संयुक्त राष्ट्र, एपी। अफगानिस्तान की सत्ता पर तालिबान के कब्जे के बाद लड़कियों के लिए बंद हुए स्कूलों के दरवाजे अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद धीरे-धीरे खुलने लगे हैं। संयुक्त राष्ट्र के एक अधिकारी ने तालिबान के हवाले से दावा किया है कि अफगानिस्तान में जल्द ही लड़कियों के लिए माध्यमिक स्कूलों के दरवाजे भी खोल दिए जाएंगे। काबुल का पिछले हफ्ते दौरा करने वाले यूनिसेफ के उप कार्यकारी निदेशक उमर आब्दी ने संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में शुक्रवार को संवाददाताओं से कहा, अफगानिस्तान के 34 में से पांच प्रांत- बल्ख, जावजजान, समांगन, कुंदुज व उरोजगान में पहले ही लड़कियों के लिए माध्यमिक स्कूलों के दरवाजे खोले जा चुके हैं।

संयुक्त राष्ट्र के एक अधिकारी ने तालिबान के हवाले से किया दावा

आब्दी ने कहा कि उन्हें तालिबान के शिक्षा मंत्री ने भरोसा दिया है कि वे स्कूली शिक्षा के लिए एक रूपरेखा तैयार कर रहे हैं, ताकि सभी लड़कियां छठी कक्षा के बाद भी पढ़ाई जारी रख सकें। हालांकि, इसमें दो-तीन महीने लग सकते हैं।

उन्होंने कहा कि तालिबान से शीघ्रता बरतने की मांग की गई है, ताकि छात्राएं शिक्षा से वंचित न रहने पाएं। उल्लेखनीय है कि तालिबान के वर्ष 1996-2001 तक के पहले शासनकाल में लड़कियों व महिलाओं की शिक्षा पर रोक लगा दी गई थी। उन्हें दफ्तरों में काम करने से भी रोक दिया गया था।

Edited By: Arun Kumar Singh