तेल अवीव[इजरायल], एजेंसियां। इजरायल में आज एक बड़ी घटना सामने आई है। यहां एक सभा के दौराग मची भगदड़ में दर्जनों लोगों के मारे जाने की खबर है।उत्तरी इजरायल में एक सामूहिक सभा में गुरुवार को मची भगदड़ में कम से कम 44 लोगों की मौत हो गई और 50 से अधिक लोग घायल हो गए। माउंट मेरन में लाग ओमर(Lag B'Omer holiday) की छुट्टी मनाने के लिए सामूहिक सभा आयोजित की गई थी। द टाइम्स ऑफ इज़राइल ने ZAKA बचाव सेवा में कहा कि कम से कम 44 लोग मारे गए। 

मैगन डेविड एडोम ने कहा कि इसके पैरामेडिक्स 50 लोगों का इलाज कर रहे थे, जिनमें कम से कम 20 गंभीर हालत में थे। बचाव सेवा ने कहा कि 6 हेलीकॉप्टर और दर्जनों एम्बुलेंस घायलों को सफीदों के ज़िव अस्पताल और नहरिया के गलील मेडिकल सेंटर में भर्ती करा रही हैं। हालांकि, भगदड़ के कारण का अभी पता नहीं चला है।

धार्मिक जलसे में भगदड़

जिस जगह हादसा हुआ वहां स्थित टूंब को यहूदी समाज के पवित्र स्थलों में से एक माना जाता है। हजारों की संख्या में यहूदी लोग वार्षिक  दूसरी शताब्दी के संत रब्बी शिमोन बार योचाई की कब्र पर उन्हें याद करने के लिए इकट्ठा हुए थे। रात भर प्रार्थना और डांस हुआ। लेकिन उसी दौरान भगदड़ मच गई। लोग बचने केलिए एक दूसरे के ऊपर से निकलने की होड़ में हैं। पुलिस और पैरामेडिकल से जुड़े लोग घायलों को बचाने की कोशिश की। 

कोरोना पाबंदी हटने के बाद पहला बड़ा आयोजन

इमरजेंसी सेवाओं के मुखिया मेगन डेविड एडम ने बताया कि 44 लोगों की हालत बहुत गंभीर है। घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए 5 हेलीकॉप्टर्स बुलाए गए हैं। पुलिस के मुताबिक हादसे की वजह यह थी कि कुछ लोग सीढ़ियों पर फिसल गए। इसके बाद एक-एक कर लोग एक दूसरे पर गिरते चले गए।  लोग बाहर निकले की कोशिश में कुचले गए हैं। कोरोना पाबंदियों को हटाए जाने के बाद यह पहला बड़ा आयोजन था। माउंट मैरन में प्राइवेट बोनफायर को कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से बैन कर दिया गया था। 

Edited By: Shashank Pandey