कोलंबो, प्रेट्र। श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हुए भीषण आतंकी हमलों की परत धीरे-धीरे खुल रही है। जांच से जुड़े एक अधिकारी के मुताबिक, कुल नौ आत्मघाती हमलावरों ने धमाकों को अंजाम दिया था। इनमें एक महिला भी थी। तीन चर्चो और तीन होटलों में हुए आत्मघाती हमलों में अब तक 359 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 500 से ज्यादा लोग घायल हैं। मृतकों में 10 भारतीय समेत 34 विदेशी हैं। पुलिस ने अब तक इस मामले में 60 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है।

श्रीलंका के रक्षा राज्यमंत्री रुवान विजयव‌र्द्धने ने बताया कि हमलों को स्थानीय मुस्लिम आतंकी संगठन नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) से अलग हुए एक समूह ने अंजाम दिया है। पहले सरकार ने एनटीजे को ही हमले का जिम्मेदार बताया था। मंगलवार को आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) ने हमले की जिम्मेदारी ली थी। हालांकि उसने इसका कोई प्रमाण नहीं दिया।

विजयव‌र्द्धने का कहना है कि अभी इस बात का भी कोई प्रमाण नहीं है कि हमला करने वाले समूह का किसी अंतरराष्ट्रीय समूह से संबंध है या नहीं। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आपराधिक जांच विभाग (सीआइडी) ने नौ में से आठ आत्मघाती हमलावरों की पहचान कर ली थी। नौंवी आत्मघाती हमलावर इनमें से एक की पत्नी थी।

सरकार ने मानी चूक की बात
श्रीलंका सरकार ने बुधवार को स्वीकार किया देश में हुए आतंकी हमले के पीछे बड़ी विफलता रही। उच्च अधिकारियों ने माना है कि श्रीलंका को संभावित आतंकी हमले की खुफिया जानकारियां मिली थीं। विजयव‌र्द्धने ने कहा कि बड़ी सुरक्षा चूक हुई। सरकार को जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी। इस चूक को देखते हुए राष्ट्रपति मैत्रिपाल सिरीसेन ने रक्षा सचिव हेमासिरि फर्नाडो और देश के पुलिस प्रमुख पुजित जयसुंदरा का इस्तीफा मांगा है।

मुस्लिमों में डर का माहौल
आतंकी हमलों के बाद श्रीलंका में रह रहे मुस्लिमों के बीच डर का माहौल है। उन्हें डर है कि मुस्लिम होने के कारण उन्हें निशाना बनाया जा सकता है। कई मुस्लिमों को घर से बाहर निकलने में भी डर लग लगा रहा है। श्रीलंका की 2.1 करोड़ की आबादी में 10 फीसद मुस्लिम हैं। इस बीच, एक मस्जिद के प्रमुख ने सरकार पर सवाल भी उठाया है। कोलंबो की शेख उस्मान वलीयुल्लाह मस्जिद के चेयरमैन रेयाज सैली का कहना है कि उन्होंने सरकार को श्रीलंका में सक्रिय कट्टरपंथी मुस्लिम प्रचारकों को लेकर चेताया था। इनमें हमले का कथित मास्टरमाइंड और एनटीजे का प्रमुख जहरान हाशिम भी शामिल था। हालांकि बार-बार चेतावनी के बाद भी अधिकारियों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया।

नौ भारतीयों के शव सौंपे
श्रीलंका ने धमाकों में मारे गए 10 भारतीयों में से नौ के शव बुधवार को भारत को सौंप दिए। मृतकों की पहचान एसआर नागराज, एच. शिवकुमार, केजी हनुमनतरैयप्पा, केएम लक्ष्मीनारायण, एम. रंगप्पा, वी. तुलसीराम, ए. मारेगौड़ा, एच. पुट्टाराजू और आर. लक्ष्मणगौड़ा के रूप में हुई है।

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप