रियाद, रायटर। सऊदी अरब और ईरान में दुश्मनी जग-जाहिर है। लेकिन, इस दुश्मनी को किनारे रखकर सऊदी अरब के तटरक्षक बल ने एक ईरानी तेल टैंकर की मदद की। इंजन खराब होने से वह लाल सागर में फंस गया था। इस पोत पर चालक दल के 26 सदस्य सवार थे।

समय पर मदद मिलने के कारण बचे सभी
इनमें 24 ईरानी और दो बांग्लादेशी नागरिक थे। सऊदी तटरक्षक बल से समय पर मदद मिलने के कारण सभी सकुशल हैं। सऊदी प्रेस एजेंसी की गुरुवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, 'हैप्पीनेस 1' नामक पोत के कैप्टन ने इंजन बंद होने और नियंत्रण खोने के कारण मदद मांगी थी। उन्होंने पोत को खींचकर किनारे ले जाने का आग्रह किया था।

लाल सागर में हुआ हादसा
बीते मंगलवार को इस घटना के वक्त यह पोत जेद्दा इस्लामिक पोर्ट से करीब 70 किमी दूर लाल सागर में था। सऊदी तटरक्षक बल के प्रवक्ता के हवाले से एजेंसी ने कहा, 'ईरान ने सऊदी अरब से संयुक्त राष्ट्र में उसके स्थायी प्रतिनिधिमंडल के जरिये आधिकारिक तौर पर मदद मांगी थी। मदद पहुंचाने में चालक दल की सुरक्षा के साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा गया कि पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचे।'

पानी के रिसाव से खराब हो गया था इंजन
ईरानी न्यूज एजेंसी शना के अनुसार, नेशनल ईरानी टैंकर कंपनी ने बताया कि इंजन रूम में पानी का रिसाव होने से इंजन ने काम करना बंद कर दिया था। टैंकर अब सुरक्षित है और इससे लाल सागर में कोई तेल रिसाव नहीं हुआ है।

Edited By: Prateek Kumar