मास्‍को, एपी। रूस ने नाटो के लिए अपना मिशन स्थगित कर दिया है। समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुताबिक रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने सोमवार को कहा कि उनका देश नाटो के लिए अपना मिशन स्थगित कर रहा है। उन्‍होंने यह भी बताया कि सैन्य गठबंधन में रूस के मिशन के आठ सदस्यों को नाटो द्वारा पिछले हफ्ते निष्कासित करने के जवाब में यह कदम उठाया गया है। लावरोव ने एलान किया की कि रूसी राजधानी मास्‍को में नाटो के सैन्य संपर्क एवं सूचना कार्यालयों को बंद कर दिया जाएगा। 

दरअसल नाटो ने कहा है कि ये सदस्य खुफिया अधिकारियों के तौर पर गोपनीय तरीके से काम कर रहे थे। यही नहीं नाटो ने अपने मुख्यालय में मास्को की टीम को भी आधा कर दिया है। लावरोव ने कहा कि नाटो के जानबूझकर किए गए कदमों के जवाब में कदम उठाने को लेकर कोई शर्त नहीं है। नाटो के एक्‍शन के जवाब में हम मुख्य सैन्य दूत के काम समेत स्थायी मिशन के काम को पहली नवंबर से निलंबित कर रहे हैं। पश्चिमी गठबंधन और मास्को के बीच संपर्क बेल्जियम में रूसी दूतावास के जरिए किया जा सकता है।

रूसी मिशन नाटो के मुख्यालय पर नहीं है बल्कि बेल्जियम की राजधानी ब्रुसेल्स के दक्षिण में है। याद दिला दें कि रूस द्वारा साल 2014 में यूक्रेन से क्रीमिया प्रायद्वीप को अलग करने के बाद नाटो ने व्यावहारिक रूप से रूस के साथ सहयोग को खत्म कर दिया था। हालांकि दोनों की ओर से उच्चस्तरीय बैठक और दोनों सेनाओं के बीच समन्वय के लिए मार्ग खुले रखे गए थे लेकिन इसके बाद से नाटो-रूस परिषद की बैठकें यदा-कदा ही हुई हैं। यही नहीं मास्को के परमाणु मिसाइल विकास कार्यक्रमों को लेकर भी रूस और नाटो में तनातनी रही है।