इस्तांबुल (एएनआई)। सीरिया में पिछले छह सालो से चल रहे गृहयुद्ध में 465,000 से ज्यादा नागरिक मारे गए हैं। शनिवार को शरणार्थी के अधिकार समूह ने ये दावा किया है। तुर्की के अंकारा में स्थित अनादोलु एजेंसी के अनुसार, अंतर्राष्ट्रीय शरणार्थी अधिकार संगठन के उपाध्यक्ष अबदुल्ला रसूल देमिर ने कहा है कि इन नागरिकों की हत्या लड़ाई के दौरान या जेल में हुई है। उन्होंने कहा कि सीरिया में शताब्दी के सबसे गंभीर मानव अधिकारों का हनन चल रहा है और विश्व के सभी देश ऐसी स्थिति में अपनी आंखों को बंद किए हुए बैठे हैं।

देमिर के अनुसार, यह आंकड़ा मार्च 2011 और नवंबर 2017 के बीच स्वतंत्र समीक्षकों से मिले प्रमाणों पर आधारित है। मौत के आंकड़ों पर बात करते हुए उन्होंने कहा ‘मरने वालों में 26,466 बच्चे शामिल हैं, जबकि 1.3 करोड़ लोग अपने घर छोड़कर चले गए और शरणार्थी बन गए। 35 लाख बच्चों को उनके मूलभूत अधिकारों, शिक्षा जैसी चीजों से वंचित कर दिया गया।'

बता दें कि इसी हफ्ते के शुरुआत में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के कब्जे वाले पूर्वी सीरिया में रूसी आर्मी द्वारा किए गए हवाई हमले में कम से कम 21 नागरिकों की मौत हो गई। नागरिक सुरक्षा की एक रिपोर्ट का दावा है कि 14 से 17 नवंबर के बीच सीरियाई प्रशासन द्वारा पूर्वी घाउटा पर किए गए हमले में कम से कम 45 लोगों की मौत हो गई।

 यह भी पढ़ें:  सीरिया में आईएस के ठिकानों पर रुस के हमले जारी

 

 

Posted By: Jagran News Network