काठमांडू, प्रेट्र। नेपाल में नवगठित शेर बहादुर देउबा सरकार की राह में रोडे़ बिछने शुरु हो गए हैं। नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल प्रचंड ने कहा है कि विपक्ष सत्तारूढ़ गठबंधन में फूट डालने की कोशिश कर रहा है, लेकिन वह सफल नहीं होगा। प्रचंड ने कहा कि पांच दलों का सत्तारूढ़ गठबंधन एकजुट है और नेपाल के विकास के लिए कार्य करने में जुटा हुआ है।

प्रचंड ने कहा- गठबंधन सरकार में फूट डालने की कोशिश कर रहे विरोधी

प्रचंड ने कहा, विरोधी मिलेनियम चैलेंज कार्पोरेशन या हिंद-प्रशांत रणनीति या न्याय व्यवस्था को लेकर सत्तारूढ़ गठबंधन में फूट डालने की कोशिश कर रहे हैं। कम्युनिस्ट नेता ने यह बात ओली की पार्टी नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (यूएमएल) के विद्रोही नेता माधव कुमार नेपाल से मुलाकात के बाद कही। नेपाल अब सत्तारूढ़ गठबंधन के साथ हैं।

प्रचंड ने कहा- पांच दलों का सत्तारूढ़ गठबंधन एकजुट, सरकार की खामियों को तलाशने में लगे विरोधी

प्रचंड ने कहा, पांच दलों का सत्तारूढ़ गठबंधन पूरी तरह से एकजुट है। इस गठबंधन की सरकार बनने से प्रधानमंत्री के रूप में केपी शर्मा ओली की मनमानी रुकी है। इसलिए विरोधी अब सरकार की खामियों को तलाशने और उसे कमजोर करने में लगे हुए हैं।

देउबा 12 जुलाई को पांचवीं बार नेपाल के प्रधानमंत्री बने, सदन में किया विश्वास मत हासिल

सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद देउबा 12 जुलाई को पांचवीं बार नेपाल के प्रधानमंत्री बने हैं। रविवार को 275 सदस्यों वाली प्रतिनिधि सभा में उन्होंने 165 सांसदों का समर्थन हासिल कर विश्वास मत हासिल किया है। नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष देउबा का नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) और जनता समाजवादी पार्टी ने समर्थन किया है।

प्रचंड ने कहा- मंत्री पद को लेकर कई सांसदों ने जताया विरोध, जल्द होगा मंत्रिमंडल विस्तार

प्रचंड ने कहा है कि सरकार में उनके सात मंत्री बन सकते हैं, लेकिन उनकी पार्टी के सभी 49 सांसद मंत्री बनना चाहते हैं। ऐसा संभव न होने पर कई सांसद विरोध जता रहे हैं। संभावना है कि इस महीने के अंत में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा।

Edited By: Bhupendra Singh