नैरोबी, प्रेट्र। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को केन्या के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात कर वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा की। दोनों पक्षों ने हिंद महासागर क्षेत्र में सुरक्षा और समृद्धि के लिए मिलकर काम करने पर भी सहमति जताई।

तीन दिन की यात्रा पर केन्या आए जयशंकर ने मोदी का पत्र राष्ट्रपति केन्याता को सौंपा

तीन दिन की यात्रा पर केन्या आए जयशंकर ने सोमवार को राष्ट्रपति उहुरू केन्याता से मुलाकात की और उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पत्र सौंपा। मुलाकात के बाद जयशंकर ने ट्वीट किया, हमने राष्ट्रपति को आश्वासन दिया कि लोगों के बीच आपसी संपर्क और कारोबारी सहयोग बढ़ाना उनकी तरह हमारी भी प्राथमिकता है।

जयशंकर ने मंत्री स्तरीय गोलमेज बैठक में साझेदारी को लेकर चर्चा की

इससे पहले जयशंकर ने मंत्री स्तरीय गोलमेज बैठक में केन्या के शीर्ष मंत्रियों के साथ दोनों देशों के बीच व्यापक साझेदारी को लेकर चर्चा की। केन्या की विदेश मंत्री रेशेल ओमामो की अध्यक्षता में हुई बैठक में द्विपक्षीय संबंधों के सभी पहलुओं की समीक्षा की गई।

बैठक में केन्या की रक्षा मंत्री, व्यापार एवं उद्योग मंत्री, ऊर्जा मंत्री समेत कई मंत्री शामिल थे

इस बैठक में केन्या की रक्षा मंत्री मोनिका जुमा, व्यापार एवं उद्योग मंत्री बैटी सी मैना, सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी मंत्री जोए म्यूचेरु ईजीएच, ऊर्जा मंत्री चा‌र्ल्स केटेर, सहायक वित्त मंत्री नेल्सन गैचुही, सहायक स्वास्थ्य मंत्री राशिद अब्दी अमान तथा गृह मंत्री एंग कारांजा किबिचो शामिल हुए।

जयशंकर ने केन्या के वरिष्ठ मंत्रियों के विचार, उत्साह तथा संकल्प की सराहना की

बैठक के बाद जयशंकर ने ट्वीट कर वरिष्ठ मंत्रियों के मूल्यवान योगदान के लिए उनका आभार जताया और उनके विचार, उत्साह तथा संकल्प की सराहना की। उन्होंने ट्वीट किया, मंत्रिस्तरीय गोलमेज बैठक में व्यापक साझेदारी के निर्माण को लेकर चर्चा की। विदेश मंत्री रेशेल ओमामो बैठक की अध्यक्षता करने के लिए आपका शुक्रिया।

आधुनिक अफ्रीका का उदय बहुप्रतीक्षित उम्मीद : जयशंकर

विदेश मंत्री जयशंकर ने सोमवार को कहा कि आधुनिक अफ्रीका का उदय बहुप्रतीक्षित उम्मीद है। इसके साथ ही उन्होंने रेखांकित किया कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा लिए गए निर्णय वास्तव में तभी वैश्विक होंगे जब इस महादेश की आवाज पर्याप्त रूप से सुनी जाएगी और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद जैसे प्रमुख निकायों में सुधार किए जाएंगे। जयशंकर ने कहा कि एकजुटता और रणनीति दोनों स्तर पर भारत अफ्रीका के साथ खड़ा है।

Edited By: Bhupendra Singh