सियोल, रायटर। उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन के बेहद करीबी किम योंग चोल को उनके पद से हटा दिया गया है। चोल को किम का राइट हैंड बताया जाता था। वह किम के विशेष दूत और उत्तर कोरिया की सत्तारूढ़ वकर्स पार्टी के यूनाइटेड फ्रंट विभाग के प्रमुख के तौर पर काम कर रहे थे। इसी विभाग पर दक्षिण कोरिया और अमेरिका से संबंधित मामलों की जिम्मेदारी है।

हटाए जाने का कारण नहीं बताया गया
दक्षिण कोरिया की योनहैप न्यूज एजेंसी ने चोल को हटाए जाने की खबर दी है, लेकिन उन्हें हटाए जाने का कोई कारण नहीं बताया है। चोल गत जनवरी में अमेरिका के दौरे पर गए थे और वाइट हाउस में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की थी।

पोंपियो के साथ वार्ता नहीं करना चाहता उत्तर कोरिया
चोल को हटाए जाने की खबर ऐसे समय पर आई है जब हाल में उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि वह अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो के साथ वार्ता नहीं करना चाहता। अमेरिका को उनकी जगह किसी परिपक्व व्यक्ति को नियुक्त करना चाहिए।

किम रूस दौरे पर
बता दें कि उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन बुधवार को पर रूस पहुंचे। सत्ता पर काबिज होने के बाद यह उनकी पहली रूसी यात्रा है। गुरुवार को यहां उनकी रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से पहली मुलाकात होगी। माना जा रहा है कि इस वार्ता में किम खुद को दुनिया के एक गंभीर नेता के तौर पर पेश करने के साथ ही अमेरिकी और अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों से राहत पाने के लिए मदद मांग सकते हैं। इससे पहले वे चीन भी जा चुके हैं। वे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिलने से पहले दोनों बार चीन का दौरा कर चुके हैं। 

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस