न्यूयॉर्क (एजेंसी)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा संयुक्त राष्ट्र में दिए गए भाषण पर उत्तर कोरिया ने बेहद तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उत्तर कोरिया ने ट्रंप की धमकी को कुत्ते का भौंकना करार दिया है। उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री ने कहा है कि उनका देश अमेरिकी गीदड़ भभकियों से डरने वाला नहीं है।

आपको बता दें कि संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा के 72वें सत्र में अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने चेतावनी भरे लहजे में कहा था कि अगर उत्तर कोरिया अपनी करतूतों से बाज नहीं आया तो उसका नामोनिशान मिटा दिया जाएगा। मंगलवार रात को दिए अपने संबोधन में उन्‍होंने वही बातें दोहराई जो वह लगातार पिछले कुछ माह से कहते आ रहे थे।

तमाम प्रतिबंधों को दरकिनार करते हुए उत्तर कोरिया ने अपना परमाणु मिसाइल कार्यक्रम जारी रखा है जिस कारण उसका पिछले कई महीनों से अमेरिका के साथ तनाव बना हुआ है। 15 सितंबर को भी उत्तर कोरिया ने जापान की सीमा में मिसाइल परीक्षण किया था। सबसे शक्तिशाली और छठे परमाणु बम के परीक्षण के बाद उत्तर कोरिया पर संयुक्त राष्ट्र ने अब तक के सबसे कड़े प्रतिबंध तक लगा दिए हैं। 

संयुक्त राष्ट्र की बैठक में भाग लेने पहुंचे उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री री योंग हो से जब पत्रकारों ने सवालों की बौछार कर दी तो उन्होंने एक कहावत से ट्रंप को जवाब दिया। री योंग हो ने कहा,'ऐसी कहावत है, हाथी चले बाजार, कुत्ते भौंके हजार।' इसके बाद विदेश मंत्री री योंग अपने होटल के कमरे में चले गये। लेकिन जाते जाते उन्होंने एक और बात कही, ‘यदि वे लोग अपने कुत्ते के भौंकने की आवाज से हमें डराना चाह रहे हैं तो निश्चित रूप से वे लोग कुत्तों का सपना देख रहे हैं।’

गौरतलब है कि भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने भी सोमवार को अमेरिका और जापान के विदेश मंत्रियों के साथ की बैठक में उत्तर कोरिया द्वारा किए जा रहे परमाणु परीक्षणों की कड़ी अलोचना की थी। उन्‍होंने इस बारे में पाकिस्‍तान और उत्तर कोरिया के संबंधों की जांच कराने की भी अपील अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर की थी।

 यह भी पढ़ें: "सुसाइड मिशन पर ‘किम’, मिटा दिया जाएगा उत्तर कोरिया का नामोनिशान"

 यह भी पढ़ें: उत्तर कोरिया पर दक्षिण और जापान ट्रंप के साथ

Posted By: Kishor Joshi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस