सिओल (रायटर्स)। उत्‍तर कोरिया ने इस माह में चौथी बार जापान सागर की तरफ अपनी मिसाइल लान्‍च की है। रायटर्स की खबर के मुताबिक उत्‍तर कोरिया ने प्‍योंगयांग एयरपोर्ट से दो बैलेस्टिक मिसाइल सोमवार तड़के लान्‍च की हैं। शुरआत की खबरों में जापान की मीडिया में इसको अनआइडेंटीफाइ प्रोजेक्‍टाइल बताया था। इसका अर्थ है कि इस बारे में फिलहाल कंफर्म नहीं है कि ये क्‍या थी। बाद में दक्षिण कोरिया ने दो बैलेस्टिक मिसाइल लान्‍च किए जाने की जानकारी दी है। हालांकि इनको शार्ट रेंज मिसाइल बताया जा रहा है।

दक्षिण कोरिया के ज्‍वाइंट चीफ आफ स्‍टाफ (जेसीएस) ने यानहाप एजेंसी को एक टेस्‍ट मैसेज में बताया है कि इसका रुख जापान सागर की तरफ था। जेसीएस के मुताबिक ये मिसाइलें सुनान एयरपोर्ट से सुबह 8:50 और 8:54 पर लान्‍च की गई थीं। ये करीब 42 किमी की ऊंचाई तक गईं और इन्‍होंने 380 किमी की दूरी तय की।फिलहाल इसके बारे में अधिक जानकारी एकत्रित की जा रही है। जापान की समाचार एजेंसी क्‍योडो का ये भी कहना है कि ये बैलेस्टिक मिसाइल थी।

इस मिसाइल लान्‍च के तुरंत बाद ही दक्षिण कोरिया में एक आपात बैठक बुलाई गई जिसमें उत्‍तर कोरिया द्वारा इस माह में ही किए गए चार मिसाइल लान्‍च की कड़ी आलोचना की गई। यूएस इंडो पेसेफिक कमांड ने भी इस मिसाइल लान्‍च की पुष्टि की है और कहा है कि इनसे अमेरिका को किसी तरह का खतरा नहीं है।  

आपको बता दें कि इससे पहले उत्‍तर कोरिया ने तीन मिसाइल टेस्‍ट किए हैं जिनमें हाइपरसोनिक मिसाइल का टेस्‍ट किया गया था। इस बार पहली बार बैलेस्टिक मिसाइल की बात सामने आ रही है। जापान के कोस्‍ट गार्ड ने भी इसको एक बैलेस्टिक मिसाइल ही बताया है। हालाांकि जापान के जहाजों को इसको एप्रोच करने से मना कर दिया गया है। इस मिसाइल के लान्‍च होनके बाद जापान के के पीएम आफिस से एक आदेश जारी करते हुए इस मिसाइल के बारे में अधिक से अधिक जानकारी हासिल करने और इसका विश्‍लेषण करने को कहा गया है।

पीएम आफिस की तरफ से किए गए एक ट्वीट में ये भी कहा गया है कि मिसाइल के मद्देनजर अपने सभी विमानों, जहाजों और दूसरे संसाधनों की सुरक्षा को सुनिश्चित किए जाने की जरूरत है। इसमें आगे कहा गया है कि इनकी सुरक्षा के लिए जो भी कुछ करना पड़े किया जाए। साथ ही हर समय चुनौती का सामना करने के लिए भी तैयार रहने के दिशा निर्देश दिए गए हैं।

आपको बता दें कि पिछले सप्‍ताह ही उत्‍तर कोरिया ने ट्रेन से एक मिसाइल लान्‍च की थी। बाद में इसको एक फायर‍िंग ड्रिल बताया गया था। उत्‍तर कोरिया की तरफ से कहा गया था कि उसने दो टेक्टिकल गाइडेड मिसाइल जापान सागर की तरफ लान्‍च की थीं। इस वर्ष की शुरुआत से अब तक चार मिसाइल लान्‍च करने वाले उत्‍तर कोरिया ने एक बार फिर से अमेरिका को इस बात का सीधा संकेत दिया है कि वो उसके प्रतिबंधों से न तो डरने वाला है और न ही अपने मिसाइल और परमाणु कार्यक्रम को बंद करने वाला है।

Edited By: Kamal Verma