द हेग, एएफपी। पांच साल पहले पूर्वी यूक्रेन में मार गिराए गए मलेशियाई विमान MH17 मामले की जांच कर रही टीम की ओर से बुधवार को संदिग्‍धों के नामों की घोषणा की जाएगी। इस हमले में विमान पर सवार कुल 298 लोगों की मौत हो गई थी।

डच के नेतृत्‍व में मामले की जांच कर रही टीम ने कहा है कि यह पहले परिवारों को सूचित करेगा और फिर प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर इस मामले में की जा रही जांच का ब्‍यौरा देगा। इस जांच में अहम मोड़ तब आया जब जांचकर्ताओं ने कहा कि जिस BUK मिसाइल से विमान गिराया गया था वह रूस के दक्षिण पश्चिमी शहर कुर्स्क में स्थित एक सैन्य ब्रिगेड से दागी गई थी।

17 जुलाई 2014 को यह विमान एमर्स्‍टडम से कुआलालंपुर जा रही थी और बीच रास्‍ते में ही पूर्वी यूक्रेन के ऊपर से गुजरने के दौरान इसपर हमला हुआ। यूक्रेन के उप विदेश मंत्री ओलेना जर्कल ने इंटरफैक्‍स-यूक्रेन न्‍यूज एजेंसी को मंगलवार को बताया कि आरोपियों में सीनियर रूसी आर्मी ऑफिसर समेत चार लोगों का नाम है।

जर्कल ने आगे कहा, ‘नामों की घोषणा होगी और इनके खिलाफ दंड निर्धारित किया जाएगा। इसके बाद डच की अदालत मामले पर काम करना शुरू करेगी।’

उनका कहना है कि BUK एंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइल सिस्‍टम जैसे हथियारों का ट्रांसफर रूस के शीर्ष की अनुमति के बिना संभव नहीं। इस मामले की जांच करने वाली संयुक्‍त जांच टीम में ऑस्‍ट्रेलिया, बेल्‍जियम, मलेशिया, नीदरलैंड्स और यूक्रेन है। इस हादसे में मारे जाने वाले यात्रियों में 196 डच व 38 ऑस्‍ट्रेलियाई थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Monika Minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप