काबुल, आइएएनएस। काबुल यूनिवर्सिटी में हुए घातक हमले के पीछे का मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसकी जानकारी अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने फेसबुक पोस्ट के माध्यम से दी है। उपराष्ट्रपति सालेह ने शनिवार को पुष्टि करते हुए कहा कि काबुल यूनिवर्सिटी पर हुए घातक हमले के पीछे का मास्टरमाइंड जिसने कम से कम 22 लोगों की जान ले ली थी उसे गिरफ्तार कर लिया है। अपने फेसबुक पोस्ट में उन्होंने लिखा कि संदिग्ध अपराधी पंजशीर प्रांत का रहने वाला है, जिसका नाम आदिल है। हक्कानी नेटवर्क के आतंकी समूह में उसे भर्ती किया गया था।

सालेह ने कहा कि संदिग्ध ने कबूल किया है कि उसे अफगान सरकार पर दबाव डालने वाली गतिविधियों को अंजाम देने के लिए तैयार किया गया था। उपराष्ट्रपति ने कहा कि आदिल पिछले तीन साल से लापता था और यह अफवाह थी कि वह पढ़ाई के लिए विदेश गया था। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने हमले को अंजाम दिया है उनकी कई पहचानें हैं क्योंकि कभी-कभी वे खुद को हिजबुल तहरीर, या तालिबान और इस्लामिक स्टेट (IS) से खुद को जोड़ते हैं। सालेह के अनुसार, आदिल ने कबूल किया है कि उसे खोस्त प्रांत में हक्कानी नेटवर्क से हमले के लिए हथियार मिले थे।

मारे गए 22 लोगों में 18 स्कूल और लॉ फैकल्टी के थे छात्र

बता दें कि आइएस ने हमले की जिम्मेदारी ली है, लेकिन अफगान सरकार ने हमले के लिए तालिबान को जिम्मेदार ठहराया है। हालांकि, तालिबान ने हमले में शामिल होने से इनकार किया है, जिसमें 40 अन्य घायल हो गए थे। 22 मारे गए लोगों में से 18 पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन स्कूल और लॉ फैकल्टी के छात्र थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021