बर्लिन, एएफपी। जर्मनी के विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि यूरोपीय देशों ने ईरान को पहली बार चिकित्सकीय मदद भेजी है। यह मदद अमेरिकी प्रतिबंधों से बचने के लिए ईरान के साथ किए गए एक समझौते के तहत की गई है। यूरोपीय मदद से इस पश्चिम एशियाई देश को कोरोना वायरस से मुकाबले में मदद मिलेगी। ईरान में कोरोना से 2900 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 45 हजार लोग संक्रमित हैं। पिछले 24 घंटों में 141 मौतें दर्ज की गई हैं। पिछले 24 घंटों में COVID-19 के 3,111 नए मामले दर्ज किए गए हैं। दुर्भाग्‍य से संक्रमित 3,703 लोग काफी गंभीर स्थिति में हैं। ईरानी स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता कियानुश जहांपुर ने एक राज्य टीवी से बात करते हुए इस बात की जानकारी दी है। 

महामारी पर अंकुश लगाने में ईरान को करना पड़ रहा दिक्‍कतों का सामना 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मई, 2018 में ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से अमेरिका के हटने का एलान किया था। साथ ही उस पर प्रतिबंध भी थोप दिए थे। ईरान ने 2015 में अमेरिका, फ्रांस, रूस, चीन, ब्रिटेन और जर्मनी के साथ यह समझौता किया था। इस समझौते को बचाने के लिए एक साल पहले ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी ने ईरान के साथ नया करार किया था। अमेरिकी प्रतिबंधों के चलते ईरान को कोरोना महामारी पर अंकुश लगाने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

24 घंटे में तीन हजार से ज्यादा नए मामले

ईरान के स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता ने मंगलवार को बताया कि मुल्क में बीते 24 घंटों के दौरान 3111 नए मामलों की पुष्टि हुई है। ईरान में कोरोना पर अंकुश लगाने के प्रयास में विभिन्न शहरों के बीच आवाजाही पर रोक लगाई गई है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस