संयुक्त राष्ट्र, प्रेट्र। संयुक्त राष्ट्र की ओर से दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र के मिशन के साथ काम करने वाली भारतीय आर्मी ऑफिसर और महिला शांति दूत सुमन गवनी  (Major Suman Gawani) के साथ ब्राजील की महिला कमांडर कार्ला मोंटेरो डे कास्ट्रो अराउजो (Brazilian Naval Officer Commander Carla Monteiro de Castro Araujo)को सम्मानित किया जाएगा। इन दोनों ने  UN मिशन (UNMISS) में अहम भूमिका निभाई है इसलिए इनका चयन हर साल दिए जाने वाले सम्मान 'United Nations Military Gender Advocate of the Year Award (2019)' के लिए किया गया है।

UN चीफ एंटोनियो गुटेरस (Antonio Guterres) ने इनका उल्लेख सशक्त रोल मॉडल्स के तौर पर किया है। 29 मई को संयुक्त राष्ट्र शांति दूत अंतरराष्ट्रीय दिवस के मौके पर UN महासचिव गुटेरस की अध्यक्षता में ऑनलाइन अवार्ड समारोह का आयोजन किया जाएगा। महासचिव गुटेरस ने बताया कि इन दोनों ने अपने कामों के जरिए लोगों के बीच विश्वास जगाने का काम किया है। दोनों ब्लू हेलमेट्स के लिए प्रेरणा हैं। संयुक्त राष्ट्र के सैनिकों को ब्लू हेलमेट कहा जाता है। वे आबादी को खतरों से बचाते हैं और उन्हें सुरक्षित वातावरण प्रदान करते हैं।

इस सम्मान के लिए दोनों का चुनाव करते हुए संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरस ने इन्हें प्रभावशाली और आदर्श बताया।। सैन्य पर्यवेक्षक सुमन गवनी ने हाल ही में दक्षिण सूडान में अपना मिशन पूरा किया है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरस ने दोनों अधिकारियों को प्रभावशाली आदर्श बताते हुए कहा कि अपने काम के माध्यम से वे नये विचारों को समाहित करती हैं और समुदायों में विश्वास जगाती हैं।

भारत के लिए  पहली बार और ब्राजील के लिए दूसरी बार यह अवसर है। सैन्य पर्यवेक्षक सुमन गवनी यूएन मिशन के तहत दक्षिण सूडान में तैनात थी और हाल में ही अपना मिशन पूरा किया। उनके साथ तैनात ब्राजील की सैन्य कमांडर  अराउजो संयुक्त राष्ट्र के सेंट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक में मिशन में काम कर रही हैं।

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस