दुबई, रायटर्स। ईरान के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी ने सोमवार तेहरान में अपना पहला भाषण दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि लोगों के अधिकार और सुरक्षा के लिए उन्हें पुरस्कृत किया जाना चाहिए। शुक्रवार को हुए  चुनाव में उनकी जीत के बाद आयोजित किए गए एक समाचार सम्मेलन उन्होंने यह कहा। उन्होंने कहा कि एक न्यायविद के तौर पर उन्होंने उन्होने हमेशा मानव का बचाव किया।

अब न्यायपालिका प्रमुख इब्राहिम रईसी (hardline judge Ebrahim Raisi) देश के नए राष्ट्रपति बने हैं। विदेश मत्री मोहम्मद जवाद जरीफ (Mohammad Javad Zarif) ने इसकी पुष्टि की थी। देश में हुए राष्ट्रपति पद के चुनाव में एकमात्र उदारवादी उम्मीदवार अब्दुलनासिर हेम्माती ने अपने प्रतिद्वंद्वी एवं कट्टरपंथी न्यायपालिका प्रमुख से शनिवार तड़के अपनी हार स्वीकार की थी।

इब्राहिम की जीत के बाद भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को बधाई दी थी और उम्मीद जताई थी की दोनो देशों के रिश्तों को मजबूत बनाने के लिए साथ मिलकर काम करेंगे। रईसी की जीत पर अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों को चिंता है कि हाल ही में बाइडन प्रशासन की तरफ से ईरान के साथ परमाणु प्रसार मुद्दे पर नए सिरे से बात करने के मिले संकेत पर पानी ना फिर जाए। अगर ऐसा होता है तो भारत और ईरान के रिश्तों पर भी असर पड़ेगा। वैसे ईरान की तरफ से कहा गया है कि रईसी निकटतम और दूरस्थ पड़ोसियों के साथ बेहतर रिश्ते बनाने के पक्षधर हैं।

Edited By: Pooja Singh