Move to Jagran APP

मुश्किल में हिंदुजा परिवार, स्विस कोर्ट ने चार सदस्यों को सुनाई सजा; नौकरों से बुरा बर्ताव करने का आरोप

भारतीय मूल के प्रकाश हिंदुजा उनकी पत्नी बेटे और बहू पर अपने नौकरों की तस्करी का आरोप लगाया गया था। वे जिनेवा में उनके विला में काम कर रहे थे। सजा सुनाए जाने के दौरान चारों जिनेवा में अदालत में मौजूद नहीं थे। अदालत ने कहा कि वे चारों नौकरों का शोषण और अनधिकृत रोजगार प्रदान करने के दोषी थे।

By Agency Edited By: Sachin Pandey Mon, 24 Jun 2024 04:02 PM (IST)
अदालत ने परिवार पर लगे मानव तस्करी के आरोपों को खारिज कर दिया। (Photo - Internet)

एपी, जिनेवा। स्विस आपराधिक अदालत ने शुक्रवार को हिंदुजा परिवार के चार सदस्यों को नौकरों का शोषण करने के लिए साढ़े चार साल तक की जेल की सजा सुनाई है। हालांकि, अदालत ने मानव तस्करी के आरोपों को खारिज कर दिया।

भारतीय मूल के प्रकाश हिंदुजा, उनकी पत्नी, बेटे और बहू पर अपने नौकरों की तस्करी का आरोप लगाया गया था। वे जिनेवा में उनके विला में काम कर रहे थे। सजा सुनाए जाने के दौरान चारों जिनेवा में अदालत में मौजूद नहीं थे। हालांकि, प्रतिवादी परिवार का व्यवसाय प्रबंधक नजीब जियाजी उपस्थित था। अदालत ने कहा कि वे चारों नौकरों का शोषण और अनधिकृत रोजगार प्रदान करने के दोषी थे।

तस्करी के आरोप खारिज

कोर्ट ने तस्करी के आरोपों को इस आधार पर खारिज कर दिया कि कर्मचारी समझते थे कि वे क्या कर रहे हैं। हिंदुजा परिवार के चारों सदस्यों पर श्रमिकों के पासपोर्ट जब्त करने, स्विस फ्रैंक की जगह रुपये में भुगतान करने, विला छोड़ने से रोकने और स्विट्जरलैंड में बहुत कम पैसे के लिए लंबे समय तक काम करने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया गया था।