मोगादिशु, एजेंसी। मोगादिशु के होटल पर रविवार रात से अल-शबाब के आतंकियों ने कब्जा कर रखा है। न्यूज एजेंसी एएफपी ने सोमवार को सुरक्षा अधिकारियों के हवाले से बताया कि कम से कम 4 लोगों की मौत हो गई है। आज भी  होटल में गोलियां चलने की आवाज सुनाई दे रहीं हैं। यह जानकारी होटल के करीब रहने वाले शख्स और पुलिस अधिकारी ने दी।

आतंकी गुट अल शबाब के आतंकियों का हमला

राष्ट्रपति भवन के करीब स्थित विला रोज होटल (Villa Rose hotel) पर रविवार को कायदा से जुड़े अल शबाब के आतंकियों ने हमला किया था। इनके पास बंदूकें और विस्फोटक थे। हमला होने के बाद बचाव के लिए कुछ सरकारी अधिकारी होटल की खिड़कियों से बाहर निकले।

होटल में होती रहती हैं सरकारी अधिकारियों की मीटिंग 

इस होटल में अक्सर सरकारी अधिकारी बैठकें करते हैं। होटल के करीब रहने वाले इस्माइल हाजी ने न्यूज एजेंसी रायटर्स को बताया, 'अभी तक होटल के अंदर भारी गोलीबारी हो रही है और हम लगातार विस्फोटों की आवाजें सुन रहे हैं। बीती रात से अब तक हम अपने घरों में हैं।'

होटल के भीतर सुरक्षाबलों व हमलावरों के बीच जारी है जंग 

नाम न बताने की शर्त पर एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ' गाशान और हरमकैड (Gaashaan and Haramcad) के नाम से मशहूर स्पेशल फोर्स यूनिट ने यह ऑपरेशन अपने हाथ ले लिया।' अधिकारी ने आगे बताया, होटल के भीतर अब तक हमलावरों के साथ संघर्ष जारी है। होटल पर हमला होने के बाद वहां से कितने लोगों को सुरक्षित निकाला गया और कितने हताहत हुए हैं, इस बारे कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। मोगादिशु के सरकारी अधिकारी अधिकतर इस होटल में मीटिंग्स करते रहे हैं।

देश पर अपना अधिकार चाहता है अल शबाब, कट्टरपंथी इस्लाम के आधार पर बनाएगा कानून 

अल शबाब (Al Shabaab) सरकार पर अपना कब्जा चाहता है। कट्टरपंथी इस्लामिक कानून के आधार पर यह गुट मोगादिशु में अपनी सत्ता लागू करना चाहता है। मोगादिशु व अन्य इलाकों में इस आतंकी गुट के हमले होते रहते हैं। राष्ट्रपति हसन शेख महमूद (Hassan Sheikh Mohamud) ने इसी साल सत्ता संभाली है। उन्होंने इस गुट के खिलाफ सैन्य कार्रवाई शुरू कर दी है।

Edited By: Monika Minal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट