बेरूत (एएफपी)। गुरुवार को सीरिया पर अभूतपूर्व इजरायली हमलों में मारे गए लोगों में से कम से कम 11 ईरानी थे। ब्रिटेन के सीरियाई वेधशाला के मानवाधिकारों के निदेशक रामी अब्देल रहमान ने कहा, "कम से कम 27 समर्थक सैनिकों को मार गिराया गया, जिनमें छह सीरियाई सैनिक और 11 ईरानी सैनिक सहित 21 विदेशी सैनिक भी थे। 

इजरायल और ईरान के बीच लड़ाई थमी नहीं है

सालों से तनाव और संघर्ष झेल रहे मध्यपूर्वी देश सीरिया में अभी भी लड़ाई थमी नहीं है। इस सप्ताह बुधवार से ही गोलन हाइट्स में इजरायल सेना और ईरान सेना आमने-सामने आ गए। दरअसल इजरायल ने आरोप लगाया है कि सीरियाई बॉर्डर गोलन हाइट्स पर ईरान ने उनके सैन्य ठिकानों को अपने हमले का निशाना बनाया है।

सीरिया ने इजरायली मिसाइलों को बनाया निशाना

सीरियाई अरब सेना के वायु सुरक्षा बलों ने सीरियाई बॉर्डर पर इजरायली मिसाइलों को निशाना बनाया। सीरियाई अरब न्यूज एजेंसी ने सेना के अधिकारी के बयानों का हवाला देते हुए कहा कि इसने 10 इजरायली मिसाइलों को मार गिराया है। अधिकारियों ने लोगों को बढ़ते हमलों से बचने का आग्रह किया है।

इसके बाद इजरायली सेना ने दावा किया है कि उन्होंने सीरिया में लगभग दर्जनों ईरानी सैनिकों पर हमला किया। सीरिया में कई सालों के तनाव के बाद इजरायल और ईरान के बीच ये सबसे बड़ा टकराव देखा गया है। इजरायली सेना के अनुसार, सीरिया में तैनात ईरानी सेना ने 20 रॉकेट से गोलन में इजरायली सेना पर हमले किये। इजरायली सेना के प्रवक्ता ने बताया कि हमारी सेना के उपर हमले किये गए और उन्हें गंभीर चोटें आई हैं।

Posted By: Srishti Verma