मैड्रिड, आइएएनएस। वर्ष 1998 में एक डच लड़के की हत्या के संदिग्ध को बीस साल बाद डीएनए टेस्ट की मदद से स्पेन में पकड़ा गया। नीदरलैंड्स के दक्षिणी प्रांत लिंबर्ग में 10 अगस्त, 1998 को 11 वर्षीय निक्की वर्सटैप्पन का शव बरामद किया गया था। जांच-पड़ताल के दौरान पुलिस ने उसके शरीर से कुछ डीएनए नमूने एकत्रित किए थे।

डीएनए की मदद से संदिग्ध हत्यारे की पहचान के लिए मई, 2017 में नीदरलैंड्स की पुलिस ने बड़े पैमाने पर टेस्ट किए। इस टेस्ट में 1400 लोगों ने हिस्सा लिया था। लेकिन उनमें से किसी का भी डीएनए नहीं मिला। हाल में पुलिस ने एक रिश्तेदार के डीएनए की मदद से निक्की के हत्यारे 55 वर्षीय जोश ब्रीच की पहचान की। जोश का डीएनए शव पर मिले नमूनों से काफी मिलता-जुलता था।

यह सामने आने के बाद से पुलिस उसकी खोज में लगी थी। घर से फरार होने के कारण पुलिस ने उसकी तस्वीर जारी की थी। रविवार को एक डच नागरिक ने पुलिस को उसकी जानकारी दी। इसके कुछ देर बाद ही स्पेन की पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। उस पर पीडि़त बच्चे पर यौन हमला करने का भी आरोप है। स्पेन पुलिस जल्द ही उसे नीदरलैंड्स की पुलिस के हवाले कर देगी।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप