जेनेवा, एएफपी। एशिया में बुधवार को कोरोना वायरस के सैंकड़ों नए मामले सामने आए। इसमें से एक अमेरिकी सैनिक के संक्रमित होने की भी है। कोरोना वायरस के आतंक से यूरोपीय शेयर तक में गिरावट दर्ज की गई है। वहीं लुफ्थांसा (Lufthansa) ने कोरोना वायरस को देखते हुए बचत को लेकर कार्यक्रम का ऐलान किया है। उधर चिंतित चीनी अब ऑनलाइन ही डॉक्‍टरों से संपर्क साध रहे हैं। 

वुहान जाएगा भारतीय विमान

भारतीय विमान गुरुवार को वुहान से 120 लोगों को वापस लाएगा। इनमें 80 भारतीय नागरिक और पड़ोसी देशों के 40 लोग शामिल हैं।  वहीं फ्रांस से भी आज पहला मौत का मामला सामने आया है। हालांकि अमेरिका ने इटली और ईरान से निकले इस महामारी के अन्‍य देशों में फैलने को लेकर चेतावनी भी दी थी। ईरान में इस कोरोना वायरस ने चार और लोगों की जान ली। इसके साथ ही यहां वायरस के संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्‍या 19 पहुंच गई।

अमेरिका पर ईरान का गुस्‍सा

कोरोना वायरस को लेकर डर का माहौल बनाने को लकर ईरान के राष्‍ट्रपति ने अमेरिका पर गुस्‍सा जताया है। अध्यक्ष हसन रूहानी ने अमेरिका पर आरोप लगाया कि वह कोरोना वायरस को लेकर ईरान में डर फैलाने की कोशिश कर रहा है। कोरोनो वायरस के कारण ईरान में 15 लोगों की मौत हो गई है।

चीन के बाद दक्षिण कोरिया का नंबर

कोरोना वायरस की महामारी बुधवार को अधिक फैल गई। ईरान में कोरोना वायरस के संक्रमण में जहां तेजी देखी गई वहीं दक्षिण कोरिया में इसके मामले 1000 से अधिक का आंकड़ा पार कर गए। यहां तक कि जिन देशों में यह संक्रमण नहीं था वहां भी यह पहुंच गया है। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सख्‍त चेतावनी जारी की गई है कि दुनिया इसके लिए तैयार नहीं है।

चीन के बाद दक्षिण कोरिया है बड़ा शिकार 

दक्षिण कोरिया में एक अमेरिकी सैनिक भी कोरोना वायरस के चपेट में आ गया है। चीन के बाद कोरोना वायरस का बड़ा शिकार दक्षिण कोरिया है जहां अब तक 11 लोगों की मौत हो गई। बुधवार को दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस के नए 169 मामले सामने आए जिसके बाद यहां कुल मामलों का आंकड़ा 1,146 पर पहुंच गया।

एशिया, यूरोप और मिड्ल ईस्‍ट

एशिया, यूरोप और मिड्ल ईस्‍ट के कई हिस्‍सों में वायरस तेजी से फैल गया है जबकि चीन में जहां से इसकी शुरुआत हुई थी, इसके मामलों में कमी देखी गई है। संक्रमण को फैलने से रोकने के प्रयास में कस्बों और शहरों को सील करने की शुरुआत हो गई जबकि संदिग्‍ध मामलों को देखते हुए कैनरी आइलैंड और ऑस्ट्रिया में होटल मंगलवार को बंद कर दिए गए थे। ईरान में संक्रमण के 100 मामलों में से 15 मौत के मामले सामने आए हैं। यहां तक कि ईरान के डिप्‍टी स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री इराज हरिरची (Iraj Harirchi) ने कहा, ‘उन्‍हें भी वायरस का संक्रमण लगा  है।’

 महामारी के लिए तैयार नहीं अन्‍य देश

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (World Health Organization) के जेनेवा स्‍थित मुख्‍यालय में ब्रूस आइलवार्ड (Bruce Aylward) ने देश द्वारा इस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए उठाए गए कदमों की तारीफ की। आइलवार्ड ने चीन में अंतरराष्‍ट्रीय एक्‍सपर्ट मिशन की अगुवाई की। चीन में अंतरराष्‍ट्रीय एक्‍सपर्ट मिशन लेकिन उन्‍होंने कहा कि अन्‍य देश इस महामारी के लिए तैयार नहीं। आइलवार्ड ने कहा, ‘वृहत पैमाने पर इसे मैनेज करने के लिए आपको तैयार रहना होगा।’ वायरस से 2,715 लोगों की मौत हो गई और चीन में 78,000 से अधिक लोग संक्रमित हैं। बुधवार को 52 और मौतें हुई। यह आंकड़ा पिछले तीन सप्‍ताह के आंकड़े की तुलना में कम है।

मिड्ल ईस्‍ट में ईरान है हॉट स्‍पॉट

कोरोना वायरस के चपेट में मिड्ल ईस्‍ट में आने वाला ईरान सबसे बड़ा हॉट स्‍पॉट है। यहां मंगलवार को तीन लोगों की मौत हो गई। खाड़ी देशों ने एहतियातन ईरान  के साथ लिंक खत्‍म करने का ऐलान कर दिया। इस बीच इटली में 300 से अधिक कोरोना वायरस के मामले पाए गए हैं और 10 मौतें भी हुई हैं। यहां 11 शहरों को एहतियातन बंद करा दिया गया और आदेश दिया गया कि फुलबॉल गेम्‍स (Serie A football games) खाली स्‍टेडियम में खेला जाएगा। इटली से वापस क्रोएशिया आए युवा शख्‍स का मामला बाल्‍कन का पहला मामला था।

क्‍या कहता है स्‍वास्‍थ्‍य आयोग

राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य आयोग (National Health Commission) ने नए संक्रमण के मामलों में 406 तक की गिरावट दर्ज की। इनमें से केवल पांच मामले हुबेई से बाहर के हैं। दुनिया के अन्‍य देशों में 40 से अधिक मौतें और 2700 मामले देखे गए। यह बीमारी अब दर्जनें देशों तक पहुंच गई है। ऑस्‍ट्रिया, क्रोएशिया और स्‍वीट्जरलैंड में नए मामले दर्ज किए गए हैं। वायरस के संक्रमण के प्रभाव से स्‍टॉक मार्केट भी अछूता नहीं है, यात्रियों पर प्रतिबंध लगा दिए गए हैं और स्‍पोर्ट्स इवेंट को भी रद कर दिया गया है। WHO ने चेताया कि गरीब देशों में इसका रिस्‍क्‍ है।

अमेरिका में कुछ दर्जन कोरोना वायरस के मामले पाए गए। इसे देखते हुए स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों ने स्‍थानीय सरकारों, व्‍यापारियों व स्‍कूलों से सामूहिक भीड़ को एकत्रित होने पर रोक लगाने का आग्रह किया। WHO और UN स्‍वास्‍थ्‍य एजेंसी ने देशों को इस संभावित महामारी के लिए तैयार रहने को कहा है।

चीनी सामान पर कोरोना का ग्रहण, देशी सामान होली पर मचाएंगे धूम

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस