वेटिकन सिटी, एजेंसियां। पोप फ्रांसिस के साथ वेटिकन स्थित उनके आधिकारिक निवास स्थान में रहने वाले एक व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एहतियात बरतते हुए संक्रमित व्यक्ति आइसोलेशन में चला गया है। उधर, कई देशों में संक्रमण की रफ्तार बढ़ी है। ईरान में 253 और लोगों की मौत के बाद राजधानी तेहरान में कोरोना प्रतिबंधों को बढ़ा दिया गया है। वहीं पोलैंड में पिछले चौबीस घंटे में रिकॉर्ड 9,622 मरीज मिले हैं। इंडोनेशिया में 4,301 नए मरीज मिलने के साथ ही 84 लोगों की मौत हुई है।

वेटिकन द्वारा जारी बयान में संक्रमित व्यक्ति की पहचान उजागर नहीं की गई है। कहा गया है कि बीमारी से जुड़े लक्षण भी उसमें दिखाई नहीं दे रहे हैं। संक्रमित व्यक्ति उन व्यक्तियों के साथ सांता मार्टा (पोप का आधिकारिक निवास स्थान) को छोड़कर आइसोलेशन में चला गया है, जिनके सीधे संपर्क में वह था। मार्च महीने के दौरान भी सांता मार्टा में रहने वाले एक व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। सांता मार्टा में 130 कमरे और कुछ सुइट हैं। बीमार पड़ने पर युवा अवस्था में ही पोंप फ्रांसिस का एक फेफड़ा निकाल दिया गया था।

पोप फ्रांसिस का नियमित रूप से कोरोना टेस्ट होता है। शनिवार को उनकी दिनचर्या पूरी तरह सामान्य रही। तीन लोगों से वह व्यक्तिगत तौर पर मिले और इटली के पुलिसकर्मियों को संबोधित किया। कोरोना संक्रमण से इटली भले ही बुरी तरह पीडि़त रहा हो, लेकिन वेटिकन में अब तक मात्र दो दर्जन लोग ही संक्रमित हुए हैं। हाल ही में वेटिकन में रहने वाले तीन लेागों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, लेकिन अब वह पूरी तरह स्वस्थ हैं। पोप की रक्षा में तैनात स्विस गार्ड के चार जवानों पिछले सप्ताह कोरोना पॉजिटिव मिले थे।

बता दें कि यूरोप में हर नौ दिन में 10 लाख संक्रमित मिल रहे हैं। ब्रिटेन, फ्रांस, रूस, नीदरलैंड और स्पेन में पूरे यूरोप के आधे से ज्यादा मामले मिले हैं। फ्रांस में सबसे अधिक हर रोज औसतन करीब 20 हजार नए केस मिल रहे हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस