साओ पाओलो, एएफपी। 24 घंटे के दौरान ब्राजील में  कोविड-19 के कारण  1,179 लोगों की मौत हो गई। लैटिन अमेरिका का सबसे बड़ा कब्रगाह के निर्माण को मजबूर ब्राजील महामारी की गिरफ्त में बुरी तरह फंस चुका है। जब से महामारी का कहर देश में शुरू हुआ है तब से बुधवार का दिन सबसे बुरा रहा। इस दिन एक दिन में हजार से अधिक लोगों की जान इस घातक वायरस ने ले ली।

कब्रगाह में काम करने वाले फ्रांसिस्को ने बताया कि सामान्य दिनों में एक दिन में करीब 15 शवों को दफनाया करता था लेकिन अब शवों के आने के क्रम में कई गुना बढ़त हुई है। ब्राजील में अब तक 2 लाख 90 हजार से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं जो दुनिया में तीसरा सबसे अधिक आंकड़ा है। यहां अब तक 19 हजार लोगों की मौत भी हो गई है।

दुनिया के सबसे अधिक संक्रमित देशों में ब्राजील तीसरे नंबर आ गया है। केवल साओ पाओलो में   5,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। महामारी के कहर को देखते हुए देश के राष्ट्रपति बोल्सोनारो ने मजबूरन गैर जरूरी बिजनेस को बंद करने के साथ लोगों को घरों के भीतर ही रहने  का आदेश दिया है। इससे पहले राष्ट्रपति बोल्सोनारो ने इस कोरोना वायरस को सामान्य फ्लू बताया था। कब्र खोदने वाली टीम के सुपरवाइजर जेम्स एलन ने कहा, 'औसतन एक दिन में हम 30-35 लोगों को दफनाते हैं कभी कभी यह संख्या बढ़कर 45 पर पहुंच जाती है। अभी हम एक दिन में 60 लोगों को दफनाने  रहे हैं।' 

ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो शुरू से ही महामारी के प्रति लापरवाह दिखे हैं। वे बिना किसी फेसमास्क के सड़कों पर घूमते नजर आए। यहां तक की उन्होंने शारीरिक दूरी के नियमों का भी पालन नहीं किया और समर्थकों से हाथ तक मिलाया। इसके लिए उनकी खूब आलोचना भी की गई। हालांकि उन्होंने मलेरिया की बीमारी में इस्तेमाल होने वाली दवा क्लोरोक्वीन के इस्तेमाल की वकालत करते हुए भारत से मंगवाया।

ऐसा भी माना जा रहा है कि देश में संक्रमण और मरने वालों की संख्या के आधिकारिक आंकडे वास्तविक आंकड़ों से काफी अलग हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO)के अनुसार, 22 मई शाम 7 बजे तक  दुनियाभर में इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्या 4,995,996 हो गई जिसमें से अब तक 3 लाख 27 हजार 8सौ 21 लोगों की मौत हो चुकी है। 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस