सियोल, एएफपी। दक्षिण कोरिया में जन्मदर अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई है। 5.1 करोड़ की आबादी वाले देश में पिछले साल करीब तीन लाख बच्चों का जन्म हुआ। बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2019 में जन्मदर विगत वर्ष के मुकाबले 7.3 फीसद कम रही और देश में कुल तीन लाख तीन हजार एक सौ बच्चे जन्मे।

देश की औसत आयु 62 वर्ष

पिछले दो वर्षो में दक्षिण कोरिया में जन्मदर एक से भी कम रही है। देश की आबादी स्थिर रखने के लिए शिशु जन्मदर कम से कम 2.1 रहना जरूरी है। आशंका जताई जा रही है कि 62 वर्ष की औसत आयु वाले इस देश में यही हाल रहा तो अगले 50 साल के भीतर आबादी चार करोड़ से कम हो जाएगी।

सरकार जन्मदर बढ़ाने के लिए 2006 से अभी तक 148 अरब डॉलर (करीब 10,000 अरब रुपये) से ज्यादा खर्च कर चुकी है। लेकिन बच्चों की परवरिश के भारी भरकम खर्च से बचने के लिए देश की कई महिलाएं मां नहीं बनना चाहतीं।

चीन के बाद दक्षिण कोरिया में कोरोना का कहर 

वहीं, कोरोना वायरस से पूरे विश्व में खौफ है। चीन के बाद दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस तेजी से पांव पसार रहा है। इधर आठ दिनों में कोरोना वायरस के सर्वाधिक मरीजों की संख्‍या दर्ज की गई है। कोरिया सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने बुधवार को कहा दक्षिणपूर्व शहर और उसके आस-पास के इलाकों में यह तेजी से फैल रहा है। यहां 82 नए मामले दर्ज किए गए हैं। दक्षिण कोरिया ने नए वायरस के 115 और मामलों की सूचना दी है, जिससे इसकी कुल संख्या 1,261 हो गई है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस