ढाका, प्रेट्र। बांग्लादेश पुलिस ने मंगलवार को प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जमायतुल मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) के मुखिया को मार गिराया। जेएमबी पर विदेशियों, ब्लागरों, अधिकार कार्यकर्ताओं और 2016 में ढाका कैफे पर हुए हमले का आरोप लगाया जाता है। ढाका कैफे हमले में एक भारतीय लड़की सहित 20 लोग मारे गए थे।

पुलिस ने बताया कि जेएमबी का प्रमुख खुर्शीद आलम उर्फ शमीम उत्तरी कस्बे शीबगंज के बोगरा में हुई एक मुठभेड़ में मारा गया। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, 'हमने शीबगंज इलाके (बोगरा) के उसके गुप्त ठिकाने पर रात भर छापामारी की। जब आतंकियों ने फायरिंग शुरू की तो जवाबी कार्रवाई में खुर्शीद मारा गया।'

बोगरा सदर सर्किल के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सनातन चक्रवर्ती ने कहा कि पुलिस ने गुप्त सूचना पर तीपुकुर क्षेत्र में छापामारी की। पुलिस को सूचना मिली थी कि वहां आतंकवादियों का एक समूह छिपा हुआ है। चक्रवर्ती के हवाले से बांग्लादेश के एक अखबार ने कहा है कि पुलिस को देखकर आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी जिसके बाद पुलिस को भी जवाबी कार्रवाई के लिए बाध्य होना पड़ा।

अधिकारी ने कहा कि अधिकतर आतंकवादी मौके से फरार हो गए लेकिन गोलियों से छलनी खुर्शीद मिला। चक्रवर्ती ने कहा कि उसे शाहिद जियाउर रहमान मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। चक्रवर्ती ने कहा कि अस्पताल जाते समय खुर्शीद ने अपनी पहचान बताई। उन्होंने कहा कि मुठभेड़ में घायल दो पुलिसकर्मियों का इलाज बोगरा पुलिस अस्पताल में चल रहा है।

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस