बेरूत, एजेंसी। अमेरिका में हुए आतंकी हमले की बीसवीं बरसी पर अलकायदा के सरगना अलजवाहिरी का एक नया वीडियो सामने आया है। 60 मिनट से अधिक के इस वीडियो में पिछले साल दिसंबर के बाद की घटना का जिक्र किया गया है, जिससे लोगों को विश्वास हो सके कि वह अभी मरा नहीं है। जिहादी वेबसाइट की निगरानी करने वाले 'द साइट' इंटेलीजेंस ग्रुप ने शनिवार को यह वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में अलजवाहिरी कह रहा है, 'यरुशलम कभी भी यहूदियों का नहीं होगा।'

वीडियो में अलकायदा के हमले की प्रशंसा

वीडियो में वह अलकायदा के उस हमले की प्रशंसा कर रहा है, जिसमें इसी साल जनवरी में सीरिया में रूसी सैनिकों पर हमला किया गया था। इस वीडियो को जारी करने वाली साइट ने कहा है कि वीडियो में अलजवाहिरी ने अमेरिकी सेना की अफगानिस्तान से वापसी का जिक्र किया है, लेकिन उसकी इस टिप्पणी से नई रिकार्डिग होने का कोई संकेत नहीं मिलता है, क्योंकि अमेरिकी सेना की वापसी के लिए फरवरी 2020 में तालिबान से समझौता हुआ था। इस वीडियो में अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे का कोई जिक्र नहीं है।

वीडियो अलकायदा के अल-साहब मीडिया फाउंडेशन ने जारी किया

ज्ञात हो कि 2020 के अंत से ही अलकायदा प्रमुख अलजवाहिरी के बीमारी से मरने की अफवाह उड़ रही है। उस समय से अब तक कोई नया वीडियो भी सामने नहीं आया था। इस वीडियो को खोजने वाली साइट की डायरेक्टर रीटा काट्ज ने ट्वीट कर कहा है कि वह अभी भी मरा हुआ हो सकता है। यदि ऐसा है तो उसके मरने का समय जनवरी 2021 के आसपास का रहा होगा। यह वीडियो अलकायदा के अल-साहब मीडिया फाउंडेशन ने जारी किया है और 61 मिनट 37 सेकंड का है। ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद अलजवाहिरी अलकायदा का सरगना घोषित हुआ था। उसके मरने की पुष्टि अभी किसी भी खुफिया एजेंसी के द्वारा नहीं की गई है। 

चीनी मीडिया ने फिर 9/11 जैसे हमले की दी चेतावनी

एएनआइ के अनुसार चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स के संपादक हू जिजिन ने कहा है कि अमेरिका में 9/11 जैसा हमला फिर हो सकता है। हू जिजिन ने कहा है कि अमेरिका पर आत्मघाती हमला किया गया था, लेकिन यह आतंकवाद का आत्मघाती हमला नहीं था यानी अभी आतंकवाद समाप्त नहीं हुआ है।

Edited By: Ramesh Mishra