काबुल, एएनआइ। अफगानिस्तान में सुरक्षाबलों और तालिबान के बीच लड़ाई तेज हो गई है। हेलमंद प्रांत के दक्षिण-पश्चिमी शहर में एक जेल पर तालिबानी आतंकियों के हमला करने कs प्रयास को सरकारी बलों ने नाकाम कर दिया है। इस दौरान 38 आतंकियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है।अफगान रक्षा मंत्रालय ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी।

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, हाल के हफ्तों में शहर के कई हिस्सों पर तालिबान ने कब्जा कर लिया है। अफगान रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता फवाद अमान ने सोमवार को कहा, 'लश्करगाह, हेलमंद प्रांतीय केंद्र जेल पर आतंकवादी संगठन तालिबान का हमला कल रात विफल हो गया। जेल पर हमला करने वाले 40 आतंकवादियों में से 38 मारे गए और 2 घायल हो गए।'

स्थानीय मीडिया ने बताया कि रविवार को तालिबान और अफगान बलों के बीच लड़ाई छिड़ गई थी। अफगान सरकार ने स्थानीय निवासियों की सुरक्षा के लिए लश्कर गाह में विशेष बलों को तैनात किया है। अफगान सांसदों ने कहा कि अगर शहर को अतिरिक्त सुरक्षा नहीं मिली तो यह शहर सरकार के नियंत्रण से बाहर हो जाएगा।

हेलमंद के एक सांसद गुलाम वली अफगान ने कहा, 'लड़ाई प्रांतीय गवर्नर के परिसर से 100 मीटर या 200 मीटर दूर तक पहुंच गई है। यह लड़ाई प्रांत में बेस पर कब्जा करने के लिए चल रही है और लोग इससे चिंतित हैं। एक अन्य सांसद करीम अटल ने कहा कि हेलमंद गवर्नर के परिसर, पुलिस मुख्यालय और एनडीएस कार्यालय के पास संघर्ष चल रहा है। अगर उन पर ध्यान नहीं दिया गया तो उनपर भी कब्जा हो जाएगा।

अफगान राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा बलों (ANDSF) के प्रवक्ता ने कहा कि हेलमंद, हेरात और कंधार में सुरक्षा के पूख्ता इन्तजाम किए गए हैं और इन प्रांतों के शहरों में कोई गंभीर समस्या नहीं है। हालांकि, अफगान समाचार एजेंसी ने बताया कि जुलाई में 70 जिलों के साथ-साथ स्पिन बोल्डक सीमावर्ती शहर भी तालिबान के हाथ में आ गया। इस बीच सरकार ने दावा किया कि 11 जिलों को तालिबान से वापस ले लिया गया है।

Edited By: Manish Pandey