काबूल, एजेंसी। तालिबान और अफगान सैनिकों के बीच संघर्ष में सात सनिकों की मौत हो गई, जबकि पांच तालिबान आतंकवादी ढेर हो गए। यह संघर्ष शनिवार को अफगानिस्‍तान के उत्‍तरी कुंदुज प्रांत के इमाम साहिब जिले में हुआ। एक स्थानीय अधिकारी ने रविवार को इस संघर्ष की पुष्टि की है। खास बात यह है कि अफगानिस्‍तान सुरक्षा बलों और तालिबान लड़ाकों के बीच यह संघर्ष तब हुआ, जब अफगान शांति वार्ता का दौर जारी है। इस ताजा संघर्ष से सुरक्षा बलों और तालिबान के बीच चल रही वार्ता को धक्‍का लग सकता है।

जिला प्रमुख महबूबुल्लाह सैय्यदी ने सिन्हुआ को बताया कि तालिबान लड़ाके बंदूक और रॉकेट-चालित ग्रेनेड से लैस थे। ये आतंकवादी राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा बलों (ANDSF) पर हमले की फ‍िराक में थे और सैनिकों से टकरा गए। जिले में हाल के महीनों में भी भारी झड़प हुई थी। जिला प्रमुख के अनुसार आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई में सुरक्षा बलों की मदद के लिए अफगान नेशनल आर्मी (एएनए) कमांडो का एक समूह जिले में पहुंच चुका है।

एक माह पूर्व अफगानिस्‍तान के दक्षिणी प्रांत कंधार और पूर्वी प्रांत नांगरहार में अफगान सेना और तालिबान के बीच झड़पों में कम से कम छह उग्रवादी मारे गए थे। तालिबान ने कंधार जिले के माईवांड जिले में कई सुरक्षा चौकियों पर हमला किया था। इसके बाद सेना ने तालिबान के खिलाफ जवाबी कार्रवाई की, इसमें कई तालिबानी उग्रवादी ढेर हो गए। खास बात यह है कि दोनों के बीच यह झड़पे तब हुई हैं, जब कतर की राजधानी दोहा में अफगान शांति प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए एक अहम बैठक चल रही है। इस वार्ता से अमेरिका को बेहतर परिणाम आने की उम्‍मीद है। ऐसे में तालिबान और अफगान सेना के बीच यह संघर्ष दोहा वार्ता पर पानी फेरता नजर आ रहा है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस