Move to Jagran APP

Israel Hamas War: गाजा में 9 महीने से जारी युद्ध का होगा अंत? प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने युद्ध रोकने के दिए संकेत

Israel Hamas War इजरायल और हमास के बीच पिछले नौ महीने से लगातार जंग चल रहा है। इस युद्ध में अबतक हजारों लोगों की जान जा चुकी है। दोनों तरफ से कैद किया गए बंधकों को तो रिहा किया जा रहा है लेकिन युद्ध पर विराम नहीं लगा है। जारी इस युद्ध के बीच अब पीएम नेतन्याहू ने मामूली शर्तों के साथ गाजा में युद्ध रोकने के संकेत दिए हैं।

By Agency Edited By: Babli Kumari Mon, 08 Jul 2024 10:30 PM (IST)
इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (फाइल फोटो)

रायटर, यरुशलम। गाजा में अस्थायी युद्धविराम की स्थितियां बनने लगी हैं। इस सिलसिले में 100 से ज्यादा इजरायली बंधकों की रिहाई के लिए समझौता करने के लिए इजरायल सरकार पर भी दबाव बढ़ गया है। प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने मामूली शर्तों के साथ गाजा में युद्ध रोकने के संकेत दिए हैं।

ताजा घटनाक्रम में इजरायल के सबसे बड़े विपक्षी दल येश एतिद पार्टी के नेता याइर लैपिड ने नेतन्याहू को आश्वस्त किया है कि बंधकों की रिहाई के लिए युद्धविराम करने के दौरान यदि सरकार पर संकट आता है तो उनकी पार्टी संसद में साथ देगी।

नौ महीने से जारी युद्ध के इसी महीने रुकने की संभावना

हमास के स्थायी युद्धविराम की शर्त छोड़ने के बाद गाजा में नौ महीने से जारी युद्ध के इसी महीने रुकने की संभावना बन रही है। हमास ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के तीन चरणों वाले शांति प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। इससे अमेरिका के घनिष्ठ मित्र इजरायल पर शांति प्रस्ताव को मानने का दबाव बढ़ गया है। 100 से ज्यादा बंधकों की रिहाई के लिए देश में रोज हो रहे प्रदर्शनों से भी इजरायल सरकार दबाव में है।

दोतरफा दबाव झेल रहे पीएम नेतन्याहू

यह दोतरफा दबाव झेल रहे नेतन्याहू को सहयोगी अति दक्षिणपंथी दलों ने युद्धविराम को लेकर अलग से चेतावनी दी है। इन दलों का कहना है कि गाजा में युद्ध रोका गया तो वे सरकार से समर्थन वापस ले लेंगे। इससे इजरायल सरकार के गिरने के खतरा है। लेकिन मुख्य विपक्षी दल येश एतिद पार्टी ने युद्धविराम की स्थिति में संसद में नेतन्याहू के साथ खड़े होने का भरोसा दिया है। लैपिड की पार्टी के संसद में 24 सदस्य हैं। जबकि सरकार का समर्थन कर रही लेकिन युद्धविराम के विरोधी दोनों अति दक्षिणपंथी दलों के सांसद हैं।

यह भी पढ़ें- Hezbollah Attack Israel: इजरायल के खुफिया सिस्टम पर सबसे बड़ा हमला, हिजबुल्लाह ने कर दी ड्रोन से बमों की बरसात