दुबई, एजेंसी। यूएइ में भारतीय प्रशंसकों को पक्षियों के पिंजरे में बंद करने वाले शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया है। पिंजरे में बंद सभी भारतीय फुटबाल टीम के प्रशंसक थे, जिनका वीडियो सेकेंडों में सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया। वीडियो सार्वजनिक होने के बाद अधिकारियों ने कार्रवाई करते हुए वीडियो बनाने वाले को गिरफ्तार कर लिया है।

वीडियो बनाने वाले ने कहा- यह मजाक था
पिंजरे में बंद मजदूरों का विवादास्पद वीडियो वायरल होने पर यूएइ अटॉर्नी जनरल के कार्यालय द्वारा एक बयान में जारी किया गया, जिसके बाद वीडियो के मालिक ने एक और वीडियो क्लिप बनाकर YouTube पर पोस्ट किया है। पिंजरे में बंद चार मजदूरों के साथ खड़े शख्स (वीडियो बनाने वाला) ने इसे मजाक का नाम दिया है। उसने कहा कि यह सब केवल एक मजाक था।

'कृपया मेरे इरादों को समझें...'
उसका कहना है, 'ये सभी मेरे वर्कर हैं, इनमें से एक को तो मैं पिछले 22 सालों से जानता हूं। मैं इन सभी लोगों के साथ रहता हूं और एक-साथ एक खाली में हम खाना भी खाते हैं। मैंने कभी इनपर हाथ नहीं उठाया है और न ही वास्तव में किसी को कैद किया है। यह केवल एक मजाक था।' उसने दोहराया,'यह सहिष्णुता का वर्ष है। कृपया मेरे इरादों को समझें।"

अटॉर्नी जनरल के बयान के अनुसार
अटॉर्नी जनरल के कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है, 'वायरल वीडियो में कथित तौर पर एक आदमी को दिखाया गया है, जिसने पक्षियों के पिंजरे में एशियाई राष्ट्रीयता के कई पुरुषों को बंद कर रखा है। वे एएफसी एशियन कप में भारत के खिलाफ मैच में यूएई की नेशनल टीम के लिए चीयर करने वाले थे।'

इस बयान के मुताबिक, ऐसा करने वाले के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी। वीडियो बनाने वाले व्यक्ति के लिए वारंट जारी किया गया है और उसे गिरफ्तार भी कर लिया गया। उससे पूछताछ की गई। इस तरह की हरकत यूएइ में कानूनी व दंडनीय अपराध है, बल्कि यह सहिष्णुता और सम्मान के मूल्यों को नहीं दर्शाता है। बयान के आखिर में कहा गया, 'भेदभाव स्वीकार्य नहीं किया जाएगा, हम अवसर और योग्यता की समानता में विश्वास रखते हैं। लोग अपने प्रयासों और व्यवहार के माध्यम से उत्कृष्टता प्राप्त करते हैं।

पूरा मामला क्या है
गुरुवार को अबुधाबी में एएफसी एशियन कप में यूएइ और भारतीय टीम के बीच मैच हुआ। मैच से पहले भारत के प्रशंसकों का पक्षियों के पिंजरे में बंद एक वीडिया सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसपर विवाद खड़ा हो गया। इस वीडियो में पक्षियों में पिंजरे में कुछ मजदूर कैद दिखे और एक शख्स हाथ में छड़ी लेकर पिंजरे के बाहर बैठा है। खलीज टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, हाथ में छड़ी लिए शख्स मजदूरों से पूछता है कि वे किसका समर्थन कर रहे हैं, जिसके जवाब में मजदूर कहते हैं-भारतीय टीम का। इसपर वह शख्स मजदूरों से कहता है कि यह सही नहीं है, क्योंकि तुम यूएइ में रहते हो और तुम्हें उसी को समर्थन करना चाहिए। वो शख्स फिर से सवाल पूछता है- वे किसका समर्थन करेंगे, इसपर मजदूर यूएइ का नाम लेते हैं। इसके बाद वह पिंजरा खोल देता है और मजदूर बाहर निकल जाते हैं।

ऐसे मामलों में UAE में सजा का प्रावधान

  • ऐसे मामलों में यूएइ में छह महीने से 10 साल तक की सजा का प्रावधान है।
  • आरोपी पर 50,000 से 20 लाख दिरहम [विदेशी मुद्रा] (13,611 डॉलर से 5.44 लाख डॉलर) तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

Posted By: Nancy Bajpai

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप