अंकारा, आइएएनएस। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन ने अमेरिका को चेताया है कि एक पादरी की रिहाई की मांग को लेकर वह अपने रणनीतिक साझीदार को खोने का जोखिम ना उठाए। अमेरिकी पादरी एंड्रयू ब्रुनसन को दो साल पहले तुर्की में आतंकवाद के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। अमेरिका पादरी की रिहाई के लिए तुर्की पर दबाव बना रहा है।

एर्दोगन ने शनिवार को एक रैली में कहा, 'पादरी को आतंकवाद के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। हम केवल अल्लाह के आगे झुकते हैं। अमेरिका एक पादरी की खातिर हमें झुकाने का प्रयास ना करे। हम वहीं करेंगे जो न्याय की मांग है।' पादरी पर अमेरिका में रह रहे मौलाना फतुल्ला गुलेन से संबंध रखने के भी आरोप हैं। गुलेन पर 2016 में तुर्की सरकार के तख्तापलट की कोशिश का आरोप है।

अमेरिका ने पिछले हफ्ते पादरी की गिरफ्तारी में शामिल रहे तुर्की के दो मंत्रियों के खिलाफ आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए थे। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बीते शुक्रवार को तुर्की से मंगाए जाने वाले स्टील और एल्यूमिनियम पर क्रमश: 50 और 20 फीसद अतिरिक्त आयात शुल्क लगाने की घोषणा की थी।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस