दुबई, एपी। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव में खुद के विजयी होने का दावा करने के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार राबर्ट ओ ब्रायन ने राष्ट्रपति चुनाव में निर्वाचित जो बाइडन को अत्यंत पेशेवर तरीके से सत्ता हस्तांतरण किए जाने का वादा किया है। ट्रंप के सहयोगी ब्रायन ने सोमवार को प्रसारित एक साक्षात्कार में यह वादा किया।

कतर द्वारा आयोजित ग्लोबल सिक्यूरिटी फोरम में ब्रायन ने सत्ता हस्तांतरण का कई बार उल्लेख किया। उन्होंने बहरीन, सूडान और संयुक्त अरब अमीरात के साथ हाल ही में हुए शांति समझौते का उल्लेख कर कहा कि कार्यालय से विदा होने वाले राष्ट्रपति की यह एक बड़ी विरासत है। एक तरफ जहां ट्रंप कोर्ट में चुनौतियां दे रहे हैं वहीं ओ ब्रायन की टिप्पणी अभी तक वर्तमान प्रशासन के किसी बड़े अधिकारी का सबसे महत्वपूर्ण बयान है। यह तीन नवंबर को बाइडन की जीत की आधिकारिक स्वीकृति है।

ट्रंप ने हार स्वीकार करने से फिर इन्कार किया

उधर, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने डेमोक्रेट प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन से हार स्वीकार करने से इन्कार किया है। उन्होंने जोर देकर कहा है कि तीन नवंबर को हुए राष्ट्रपति के चुनाव में वह विजयी हुए हैं। सोमवार को राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, 'मैं चुनाव जीत गया।'ट्विटर ने उनके ट्वीट को फ्लैग किया जिसमें कहा गया, 'आधिकारिक सूत्रों ने इस चुनाव को अलग बताया है।' ट्विटर पर रिपब्लिकन राष्ट्रपति ने लिखा, 'चुनाव में गड़बडी हुई इसलिए वह जीत गए।'

ट्रंप का चुनाव में हेराफेरी का दावा

पिछले सप्ताह मुख्यधारा की मीडिया ने बाइडन को राष्ट्रपति चुनाव का विजेता घोषित किया था। 77 वर्षीय पूर्व उपराष्ट्रपति ने जीत के लिए अनिवार्य 270 इलेक्टोरल मतों का आंकड़ा पार कर लिया था। ट्रंप ने चुनाव परिणाम मानने से इन्कार कर दिया और उन्होंने जोर देकर कहा था कि वह चुनाव जीत गए हैं। राष्ट्रपति ने कई प्रांतों में चुनाव परिणाम को चुनौती दी और विस्कान्सिन में दोबारा मतगणना कराने की मांग की थी। उन्होंने कई प्रांतों में न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाया लेकिन अपने दावे के समर्थन में कोई सुबूत पेश नहीं कर पाए। अभी तक उनके सभी मामले असफल साबित हुए हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस