बेरुत, रायटर। कतर की सरकार ने गुरुवार को कहा कि नए न्यूनतम मजदूरी कानून को लागू कर दिया गया है। जल्द की उस श्रम प्रणाली को भी खत्म कर दिया जाएगा, जिसके तहत कामगारों को देश छोड़ने के लिए अपने नियोक्ताओं की स्वीकृति लेनी पड़ती है।

इस खाड़ी देश ने श्रम सुधारों के तहत नए न्यूनतम मजदूरी कानून को मंजूरी दी है। इस देश में करीब 20 लाख विदेशी काम करते हैं, जिनमें बड़ी संख्या भारतीयों की है। कतर साल 2022 में फीफा व‌र्ल्ड कप की भी मेजबानी करने वाला है।

कतर के प्रशासनिक विकास, श्रम और सामाजिक मामलों के मंत्रालय ने कहा कि कैबिनेट ने न्यूनतम मजदूरी से जुड़े नए कानून को मंजूरी दी है।

हालांकि यह नहीं बताया गया कि न्यूनतम मजदूरी क्या होगी? मंत्रालय ने यह भी बताया कि कैबिनेट ने एक अन्य मसौदा कानून पर मुहर लगाई है। इसके लागू होने से सभी कामगारों के लिए देश छोड़ने का परमिट लेने की जरूरत खत्म हो जाएगी। इसके अलावा कामगारों के लिए ऐसे मसले पर भी काम किया जा रहा है, जिससे वे ज्यादा आसानी से अपनी नौकरी बदल सकेंगे। कतर अपने श्रम बल के लिए विदेशी कामगारों पर निर्भर है।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तानी एफ-16 ने घेरा भारतीय यात्री विमान, बढ़ सकता था तनाव

यह भी पढ़ें: तस्करी के बड़े मामले का पर्दाफाश, कस्टम विभाग ने जब्त किया 123 किलो सोना, जानें- कितनी है कीमत

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस