दुबई, रायटर। यूक्रेन के विमान को गलती से मार गिराने की ईरानी सेना की स्वीकारोक्ति के बाद देश में लगातार तीसरे दिन प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतरे। सोशल मीडिया पर जारी वीडियो में प्रदर्शनकारी और पुलिस की भिड़ंत दिखाई जा रही है। प्रदर्शनकारी चिल्ला रहे थे कि पढ़े-लिखे लोगों को जान से मारा जा रहा है और उनकी जगह मौलवी ले रहे हैं। उनका इशारा उन छात्रों की तरफ था, जो दुर्घटनाग्रस्त विमान में सवार थे और छुट्टियों के बाद यूक्रेन और कनाडा पढ़ाई करने जा रहे थे।

सरकार ने पुलिस को प्रदर्शनकारियों के खिलाफ संयम बरतने को कहा

इस बीच, राजधानी तेहरान के पुलिस प्रमुख ने सोमवार को कहा कि पुलिस को प्रदर्शनकारियों के खिलाफ संयम से काम लेने का आदेश दिया गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक ट्वीट में ईरान से प्रदर्शनकारियों पर गोलियां नहीं चलाने की अपील की है। वहीं, यूक्रेन के विदेश मंत्री ने कहा है कि विमान हादसे में जिन पांच देशों के नागरिक मारे गए थे, वो इस मामले में संभावित कानूनी कार्रवाई पर विचार करने के लिए गुरुवार को लंदन में बैठक करेंगे।

प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच खूनी भिड़ंत

इससे पहले रविवार को प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच भिड़ंत हुई थी। एक वीडियो में तेहरान के आजादी चौक के आसपास के क्षेत्र में गोलियों की आवाज सुनाई दे रही है। इसी वीडियो में घायलों को ले जाते और सुरक्षाकर्मियों को राइफलों के साथ भागते देखा जा सकता है। सड़कों पर खून बिखरा भी दिख रहा है। तेहरान के पुलिस प्रमुख जनरल हुसैन रहीमी ने हालांकि कहा, रविवार को प्रदर्शन कर रहे लोगों पर बिल्कुल सख्ती नहीं की गई और किसी पर कोई गोली नहीं चलाई गई। सिंगापुर की यात्रा पर आए यूक्रेन के विदेश मंत्री वैडिम प्रिस्टाइको ने कहा किलंदन की बैठक में हादसे की जांच और मुआवजे की मांग के मुद्दे पर भी चर्चा की जाएगी।

वार्ता की पहल करें ईरान: ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति ने रविवार देर ट्वीट किया, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार राबर्ट ओ ब्रायन ने मुझे सलाह दी है कि प्रतिबंध और प्रदर्शन से ईरान परेशान हो जाएगा और बातचीत करने को राजी होगा। अगर वह ऐसा करता है तो मैं इसके लिए तैयार हूं। यह पूरी तरह उन पर है कि आखिर वह क्या निर्णय लेते हैं। ईरान सरकार के प्रवक्ता ने ट्रंप के इस बयान पर टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया। उन्होंने कहा कि ईरान के नागरिक उनके द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों का ही सामना कर रहे हैं।

ब्रिटेन ने ईरान के राजदूत को तलब किया

लंदन, एएफपी। तेहरान में ब्रिटिश राजदूत को गिरफ्तार किए जाने के मामले में सोमवार को ब्रिटेन ने ईरान के राजदूत को तलब किया। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के प्रवक्ता ने बताया कि सरकार ने इस घटना पर ईरानी राजदूत से कड़ा विरोध दर्ज कराया है। सरकार ने इसे राजनयिक प्रोटोकॉल का अस्वीकार्य उल्लंघन बताया है।

ट्रंप ने सुलेमानी की हत्या की सात महीने पहले दी थी मंजूरी

एनबीसी टीवी नेटवर्क ने पांच अनाम सूत्रों के हवाले से कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप ने ईरान के शीर्ष कमांडर कासिम सुलेमानी को मारने के लिए सात महीने पहले ही मंजूरी दे दी थी। अगर यह सच है तो यह ट्रंप के उस दावे के विपरीत है, जिसमें उन्होंने कहा था कि सुलेमानी खाड़ी में चार अमेरिकी दूतावासों पर हमले की योजना बना रहे थे, इसलिए उनको मार डालने का आदेश दिया था।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस