मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रियाद, रायटर, एएफपी। सऊदी अरब में भ्रष्टाचार के आरोप में अरबपति प्रिंस अल वालीद बिन तलाल समेत 11 प्रिंस (राजकुमार) और दर्जनों मौजूदा एवं पूर्व मंत्रियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके अलावा सऊदी शाह सलमान ने बड़ा फेरबदल करते हुए नेशनल गार्ड के प्रमुख समेत दो मंत्रियों को बर्खास्त कर दिया है। शाह ने क्राउन प्रिंस (युवराज) मुहम्मद बिन सलमान की अध्यक्षता में नई भ्रष्टाचार विरोधी समिति बनाने की घोषणा भी की। इन ताबड़तोड़ कार्रवाइयों से क्राउन प्रिंस की शक्ति में इजाफा हुआ है।

सरकारी टीवी चैनल अल अरबिया के मुताबिक 11 प्रिंस और चार मौजूदा एवं दर्जनों पूर्व मंत्रियों को भ्रष्टाचार विरोधी समिति की जांच शुरू होने पर गिरफ्तार किया गया। समिति जेद्दा के रेड सी शहर में 2009 के बाढ़ जैसे कई पुराने मामलों की जांच कर रही है। सूत्रों के मुताबिक, जेद्दा में निजी विमानों के संचालन पर रोक लगा दी गई है ताकि कोई प्रमुख व्यक्ति देश से बाहर न जा सके। इन कार्रवाइयों को 81 वर्षीय शाह सलमान से क्राउन प्रिंस मुहम्मद के औपचारिक रूप से सत्ता संभालने से पहले आंतरिक असंतोष को खत्म करने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है।

अल अरबिया के मुताबिक प्रिंस मितेब बिन अब्दुल्ला को हटाकर खालिद बिन अय्याफ को नेशनल गार्ड का मंत्री बनाया गया। जबकि अब्देल फाकिह की जगह मुहम्मद अल तुवैजरी को आर्थिक मंत्री बनाया गया। प्रिंस मितेब दिवंगत शाह अब्दुल्ला के बेटे हैं और एक समय उन्हें तख्त का प्रबल दावेदार माना जाता था। मितेब के हटने के बाद सुरक्षा संस्थानों पर क्राउन प्रिंस का नियंत्रण मजबूत हुआ है। वह रक्षा मंत्री भी हैं। इससे अलावा सऊदी नौसेना के प्रमुख को हटा कर नई नियुक्ति की गई है।

यह भी पढ़ें: इराक में आइएस के अंतिम गढ़ की ओर बढ़ी फौजें, जल्द ही होगा सफाया

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप