तेलअवीव, आइएएनएस। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने आधिकारिक रूप से विवादित गोलन पहाड़ी क्षेत्र की एक बस्ती का नाम अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नाम पर रख दिया है। उन्होंने कहा कि गोलन की एक बस्ती को 'रामत ट्रंप' के नाम से जाना जाएगा।

नेतन्याहू ने रविवार को एक बैठक में कहा, 'हम राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सम्मान में गोलन पहाडि़यों में एक नई बस्ती बसाने जा रहे हैं। यह ऐतिहासिक दिन है। ट्रंप के नाम पर बस्ती स्थापित करना अमेरिकी राष्ट्रपति के उन फैसलों के प्रति सम्मान जाहिर करना है जो इजरायल के हित में रहे हैं।'

यरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने के साथ ही ट्रंप गोलन पहाडि़यों पर उसके अधिकार पर भी अपनी मुहर लगा चुके हैं। ट्रंप के इस फैसले की अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने तीखी आलोचना की थी।

गोलन पहाडि़यों पर क्या है विवाद
सामरिक रूप से महत्वपूर्ण गोलन पहाडि़यों को इजरायल ने 1967 के युद्ध में सीरिया से जीत लिया था। इजरायल ने 1981 में इस क्षेत्र को अपना हिस्सा घोषित कर दिया था। अंतरराष्ट्रीय जगत में इसका विरोध होने पर यथास्थिति बहाल कर दी गई थी। अमेरिका की 50 वर्षो से भी ज्यादा समय से चली आ रही नीति के उलट राष्ट्रपति ट्रंप ने इस साल मार्च में इन पहाडि़यों पर इजरायल के कब्जे को मान्यता दे दी थी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप