दुबई, प्रेट्र । खस्ताहाल अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इन दिनों सहयोगी देशों के चक्कर लगा रहे हैं। इसी क्रम में इमरान खान रविवार को खाड़ी देश संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) पहुंचे। इससे पहले वह सऊदी अरब और चीन गए थे। सऊदी और चीन ने पाकिस्तान को छह-छह अरब डालर की मदद का भरोसा दिया है।

पाकिस्तान को अपना कामकाज सुचारु रूप से चलाने के लिए मौजूदा वित्तीय वर्ष में करीब 1200 करोड़ डॉलर चाहिए। पिछले दो महीनों में दूसरी बार यूएई की यात्रा पर पहुंचे इमरान ने रविवार को अबूधाबी के क्राउन प्रिंस शेख मुहम्मद बिन जायद से आर्थिक मसले पर वार्ता की।

इमरान यूएई से करीब 600 करोड़ डॉलर की नकद मदद और खरीदे गए तेल का भुगतान बाद में करने का आश्वासन चाहते हैं। दोनों देश जल्द ही इस संबंध में एक समझौते पर हस्ताक्षर कर सकते हैं। पाकिस्तान के वित्त मंत्री असद उमर ने कहा कि इमरान की यूएई यात्रा को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) से जोड़कर देखना गलत है। पाकिस्तान को ऋण देने को लेकर आइएमएफ ने अपनी शर्ते कड़ी कर दी हैं। इसी के चलते पाकिस्तान अपने सहयोगी देशों का रुख कर रहा है।

Posted By: Tanisk

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस