अबूधाबी, एएनआइ। संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में अब तक 12 लाख  लोगों का कोरोना टीकाकरण हो गया है। इसमें देश में रहने वाले विदेशी भी शामिल हैं। अबू धाबी के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने यह जानकारी दी है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि हमारे फ्रंटलाइन हीरोज के जबरदस्त प्रयासों के कारण, यूएई के  1,275,000 नागरिकों और निवासियों को टीका पहले ही प्रदान किए जा चुके हैं। इजरायल के बाद यूएई दुनिया में अब तक सबसे ज्यादा कोरोना टीकाकरण करने वाला देश है। वह इस मामले में अरब देशों में पहले नंबर पर है। Ourworldindata.org वेब पोर्टल के आंकड़ों के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआइ ने इसकी जानकारी दी है, जो प्रत्येक देश के कोरोना के आधिकारिक डेटा रखता है।

यूएई में वैक्सीन वर्तमान में 18 वर्ष से अधिक आयु के किसी भी व्यक्ति के लिए उपलब्ध है। संयुक्त अरब अमीरात के अधिकारियों ने 2021 की पहली तिमाही के दौरान 50 फीसद आबादी का टीकाकरण करना का लक्ष्य रखा है। देश की अबादी 90 लाख से ज्यादा है। दिसंबर में, अबू धाबी ने कोरोना वायरस के दो टीकों को मंजूरी दी। फाइजर  द्वारा विकसित वैक्सीन के अलावा चीन के सिनोफर्म वैक्सीन को अनुमति दी थी। 

इसके अलावा अलावा, पश्चिमी मीडिया ने बताया है कि ब्रिटेन के कुछ धनी नागरिकों ने यूएई के निजी क्लीनिकों में कोरोना वैक्सीन का डोज ले लिया है। उन्होंने स्वदेश वापस जाकर ऐसा करने के लिए इंतजार नहीं किया। दिसंबर में, ब्रिटेन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) को कोरोना के नए स्ट्रेन की जानकारी दी थी, जो कि पहले की तुलना में 70 प्रतिशत अधिक संक्रामक है। हालांकि, नया स्ट्रेन अब तक ज्यादा घातक नहीं दिखा है। नए स्ट्रेन को लेकर जानकारी सामने आने के बाद कई देशों ने ब्रिटेन से यात्रा पर रोक लगा दी थी, लेकिन यूएइ ने ऐसा नहीं किया। यहां पर ब्रिटेन से लोगों का आवागमन जारी था। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021