तेल अवीव, एएनआइ। पिछले दो सालों से दुनिया कोरोना महामारी से परेशान है। इस बीच नई बीमारी फ्लोरोन ने दस्तक दे दी है। इजरायल में इसका पहला मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार यह कोरोना और इंफ्लूएंजा का डबल इंफेक्शन है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार अरब न्यूज ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। अरब न्यूज ने ट्वीट करके कहा कि इजरायल में फ्लोरोना बीमारी का पहला मामला सामने आया है, जो कोरोना और इंफ्लूएंजा का डबल इंफेक्शन है।  

बता दें कि कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के कारण अमेरिका, ब्रिटेन, इजरायल समेत दुनिया के कई देशों में कोरोना की नई लहर आ गई है। इसके कारण तमाम देशों में पाबंदियां लगा दी गई हैं। इस बीच इजरायल में शुक्रवार को कमजोर इम्युनिटी वाले लोगों को कोरोना वैक्सीन की चौथी डोज देना शुरू कर दिया गया है। टाइम आफ इजरायल ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय के महानिदेशक नचमन ऐश ने आज ओमिक्रोन वैरिएंट के कारण आई लहर के मद्देनजर कमजोर इम्युनिटी वाले लोगों के लिए बूस्टर डोज की अनुमति दे दी।

वैक्सीन उनको ही लगेगी जिनको तीसरा डोज लिए हुए चार महीने से ज्यादा का वक्त हो गया होगा। ऐश ने शुक्रवार की सुबह वृद्ध रोगियों के लिए टीके को भी मंजूरी दी। इजरायल में कोरोना के मामलों में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के नए आंकड़ों के अनुसार गुरुवार को लगभग 5,000 नए मामलों की पुष्टि हुई।

कोरोना की नई लहर के मद्देनजर बढ़ती संक्रमण दर पर अंकुश लगाने के लिए इजरायल में नए साल की पूर्व संध्या समारोह से पहले गुरुवार देर रात और पाबंदियां लगा दी गई हैं। इनमें एक ग्रीन पास शामिल है, जो खुले जगहों पर होने वाले 100 से ज्यादा लोगों के आयोजनों के लिए जारी किया जा रहा है। यह पास पूर्ण टीकाकरण वाले लोगों और हाल ही में कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके लोगों को दिया जा रहा है। वहीं खुले जगहों पर होने वाले 50 से ज्यादा लोगों के आयोजनों में मास्क पहनना अनिवार्य है। 

Edited By: Tanisk