रियाद, एएफपी। सऊदी अरब में एक दर्दनाक बस हादसे में 35 लोगों की जान चली गई है। बताया जा रहा है कि मरनेवालों में सभी विदेशी हैं। स्‍थानीय मीडिया के मुताबिक, ये हादसा मुस्लिमों के पवित्र शहर मदीना में हुआ है। ये हादसा विदेशी यात्रियों से भरी बस के एक अन्‍य बड़े वाहन से टकराने पर हुआ। इस हादसे में चार लोग घायल भी बताए जा रहे हैं। अभी हादसे के कारण का पता नहीं चल पाया है।

पीएम मोदी ने जताया दुख

सऊदी अरब में मक्का के पास एक बस दुर्घटना की खबर सुनकर काफी दुख हुआ। इस हादसे में जान गंवाने वालों के परिवारों के प्रति संवेदना। मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की ईश्‍वर से प्रार्थना करता हूं।

स्‍थानीय मीडिया के मुताबिक, इस हादसे का शिकार हुए लोग अरब और एशियाई तीर्थयात्री थे। स्थानीय मीडिया के अनुसार, आग की लपटों में घिरी बस की खिड़कियां तक उड़ गईं। घायलों को अल-हमना अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया है, और अधिकारियों ने हादसे की जांच शुरू कर दी है। बता दें कि मुस्लिमों के पवित्र धार्मिक स्‍थल मदीना में हर साल लाखों तीर्थयात्री पहुंचते हैं।

बता दें कि सड़क के किनारे गलत तरीके से पार्क किए गए वाहन रात में दूर से दिखाई नहीं पड़ते हैं। इस कारण कई बार तेज गति से आ रहे दूसरे वाहन इनसे टकराकर गंभीर दुर्घटनाओं का शिकार हो जाते हैं। भारत ने ऐसे हादसों को गंभीरता से लेना शुरू कर दिया है। इन हादसों पर अंकुश लगाने के लिए भारत सरकार जल्द ही सभी प्रकार के वाहनों में, चाहे उनका निर्माण कभी भी हुआ हो, आगे और पीछे रात में चमकने वाला रिट्रो रिफ्लेक्टिव टेप लगाना अनिवार्य करने जा रही है।

गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र के साथ किए वादे के तहत भारत सरकार को 2020 तक अपने यहां सड़क दुर्घटनाओं में मौतों को आधा करना है। इसके लिए 1988 के मोटर वाहन एक्ट में कई प्रकार के बदलाव किये जा रहे हैं। हाल ही में इनमें जुर्मानों में बढ़ोतरी की अधिसूचना 1 सितंबर से लागू की जा चुकी है। ये अलग बात है कि कई राज्यों ने या तो इसे अभी लागू ही नहीं किया है अथवा जुर्मानों में अपने कमी करके लागू किया है, लेकिन ज्‍यादातर राज्‍यों में इन्‍हें लागू कर दिया गया है। इससे दुर्घटनाओं में कमी आई है।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप