जकार्ता (रायटर्स)। इंडोनेशिया के बोर्नियो द्वीप पर स्थित एक बंदरगाह के आस-पास के इलाकों में आपातकाल की घोषणा कर दी गई है। मंगलवार को अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी। जानकारी के मुताबिक, पिछले सप्ताह इस इलाके में तेल रिफाइनरी में बड़े पैमाने पर तेल रिसाव के बाद लगे आग में चार लोगों की मौत हो गई थी।

आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारी बालिकपपन में घटे इस दुर्घटना पर नियंत्रण पाने में सफल रहे लेकिन शनिवार को शुरु हुआ तेल का रिसाव इलाके के 12 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैल गया। इसके बाद सिटी पर्यावरण एजेंसी ने लोगों को चेतावनी जारी करते हुए कहा कि वे उस इलाके में ना जायें।

आपको बता दें कि पूर्वी कलिमंतन में बालिकपपन एक तेल और उर्जा का रिफाइनरी जो देश का बड़ा तेल रिफाइनरी है। इसे स्टेट एनर्जी फर्म परटामिना के द्वारा संचालित किया जाता है।

सरकारी कंपनी परटामिना ने कहा कि इस बात की जांच की जा रही है कि तेल का रिसाव कहां से शुरु हुआ था और साथ ही इस बात का भी पता लगाया जा रहा है कि इस इलाके के किसी पानी के पाइपलाइन में कोई लीकेज तो नहीं है। उन्होंने बताया कि अब तक इस अभियान में कोई खतरे की सूचना नहीं है। इस समय हमारी टीम दुर्घटना के बाद प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

जानकारी के मुताबिक इलाके में तीसरे दिन भी आपातकाल लागू रहा। तेल रिसाव की घटना के बाद यह खाड़ी एक गैस स्टेशन में तब्दील हो चुका है। बालिकपपन सिटी सेक्रेटरी सईद फडली ने कहा। उन्होंने कहा कि हमने नागरिकों और कर्मचारियों को इस खतरे वाले इलाके के आसपास-सिगरेट जैसी खतरनाक चीजों के इस्तेमाल करने से सख्त मना किया है। बताया जाता है कि शनिवार को तेल रिसाव के बाद लगे आग से चारों तरफ काले घने धुंए की लपटें उठने लगी थी जिसमें चार लोगों की मौत हो गई थी और एक लापता की सूचना थी।

Posted By: Srishti Verma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस