जकार्ता, न्यूयार्क टाइम्स। इंडोनेशिया में कोरोना महामारी बच्चों के लिए जानलेवा होती जा रही है। यहां हालिया हफ्तों में इस खतरनाक वायरस की चपेट में आकर सैकड़ों बच्चों की जान जा चुकी है। मरने वालों में कई पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चे भी बताए जाते हैं। बच्चों की मौत के मामले ऐसे समय सामने आ रहे हैं, जब इस दक्षिण-पूर्व एशियाई देश में कोरोना के डेल्टा वैरिएंट का कहर बढ़ गया है।

दुनिया में चौथी सबसे बड़ी आबादी वाला इंडोनेशिया इस माह कोरोना के दैनिक मामले में भारत और ब्राजील से आगे निकल गया है। सरकारी डाटा के अनुसार, देश में शुक्रवार को करीब 50 हजार नए केस पाए गए और 1,566 पीडि़तों की मौत हुई। इस माह संक्रमित पाए गए लोगों में 12.5 फीसद बच्चे बताए गए हैं। बीते एक हफ्ते में कोरोना से 150 से ज्यादा बच्चों की जान गई। महामारी शुरू होने के बाद से कुल 800 से ज्यादा बच्चों की मौत हुई है। इनमें से ज्यादातर मौत गत माह हुई।

पाक में बढ़े मामले, ग्वादर में लाकडाउन

समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार, पाकिस्तान में डेल्टा वैरिएंट के चलते दैनिक मामले बढ़ते जा रहे हैं। बीते 24 घंटे में देशभर में 3,752 नए मामले पाए गए। राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने महामारी की चौथी लहर के प्रति लोगों को आगाह करते हुए कहा कि गंभीर होने की जरूरत है। इस बीच, ग्वादर में 15 दिन के लिए लाकडाउन लगा दिया गया है। इस तटीय शहर में चीन बंदरगाह विकसित कर रहा है।

चीन में फिर बढ़ रहा कोरोना का खतरा

समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक, चीन में कोरोना का खतरा फिर बढ़ना शुरू हो गया है। पूर्वी चीन के नानजिंग शहर में संक्रमण बढ़ने से यह खतरा बताया जा रहा है। इस शहर में 24 घंटे में 38 मामले पाए गए। यहां अब तक 60 से ज्यादा केस मिल चुके हैं। नानजिंग में लाकडाउन लगाया गया है और बड़े पैमाने पर जांच की जा रही है।

Edited By: Sanjeev Tiwari