शंघाई, एपी। कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण के मुद्दे पर गतिरोध के बीच दक्षिण कोरिया के वायलिन वादक वोन ह्युंग जून और उत्तर कोरियाई गायक किम सांग मी ने रविवार को चीन में साथ मिलकर प्रस्तुति दी। शंघाई ओरियंटल आर्ट सेंटर में हुए इस कार्यक्रम के बाद वोन और किम ने उम्मीद जताई कि संगीत दोनों कोरियाई देशों को करीब लाने में मददगार होगा।

उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच गत फरवरी में सिंगापुर में हुई वार्ता बेनतीजा रहने से दोनों कोरियाई देशों में तनाव बढ़ा है। किम और ट्रंप के बीच यह वार्ता कराने में दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे-इन ने मुख्य भूमिका निभाई थी।

उत्तर कोरिया के हालिया मिसाइल परीक्षणों से भी दोनों देशों में मतभेद बढ़े हैं। ऐसे में दोनों देशों के कलाकारों का एक मंच पर साथ आना सुखद है। सियोल कोरिया इंस्टीट्यूट के विशेषज्ञ चो हान बम का कहना है कि इस कार्यक्रम से दोनों देशों के संबंध सुधरने का माहौल जरूर बनेगा। इस कार्यक्रम में किम ने 'सांग्स माय मदर टॉट मी' गाया जबकि वोन ने वायलिन पर उनका साथ दिया।

विरले ही साथ आते हैं दोनों देशों के कलाकार
दक्षिण और उत्तर कोरिया के नागरिक सरकार की अनुमति के बिना एक-दूसरे से बातचीत भी नहीं कर सकते। इस वजह से दोनों देशों के कलाकार विरले ही साथ आते हैं। वर्ष 2018 में दक्षिण कोरिया में आयोजित हुए शीतकालीन ओलंपिक खेलों में उत्तर कोरिया के कलाकारों ने प्रस्तुति दी थी। इसके बाद दक्षिण कोरियाई पॉप गायकों ने किम और उनकी पत्नी के सामने गाना गाया था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप