नई दिल्ली, जेएनएन। दुनियाभर का कारोबारी जगत शुक्रवार को उस वक्त हतप्रभ रह गया, जब चीन की स्मार्टफोन कंपनी जियोनी के चेयरमैन लिऊ लिरांग के जुए में 1,000 करोड़ रुपये हारने की खबर आई। चीन की एक वेबसाइट ने खबर दी है कि लिरांग एक अरब युआन हार गए हैं। इससे कंपनी दिवालिया होने की कगार पर पहुंच गई है। वह अपने सप्लॉयरों को भुगतान नहीं कर पा रही है। हालांकि सिक्योरिटीज टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार लिरांग ने कहा है कि उन्होंने जुए के लिए जियोनी के कैश का गलत उपयोग नहीं किया, बल्कि कंपनी से फंड उधार लिया है।

चीन की वेबसाइट का दावा

चीन की वेबसाइट जेमिया ने लिरांग के जुएं में मोटी रकम हारने का दावा किया है। हालांकि इस बारे में जियोनी ने कोई अधिकृत जानकारी नहीं दी है। वेबसाइट ने लिखा है कि लिरांग की जुए की लत कंपनी को ले डूबेगी। कहा जा रहा है कि लिरांग पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में अमेरिका के आधिपत्य वाले साइपैन द्वीप के एक कसीनो में जुआ खेलते वक्त एक अरब युआन हार गए हैं।

20 सप्लायर पहुंचे कोर्ट

जियोनी के दिवालिया होने की स्थिति को देखते हुए उसके 20 सप्लायरों ने शेनजेन की कोर्ट में अपनी रकम की वसूली का दावा कर दिया है। इससे कंपनी के डूबने का खतरा गहरा गया है। जियोनी की भारत के स्मार्टफोन बाजार में 4.6 फीसदी हिस्सेदारी है। उसने इसी साल अप्रैल में कम वजन वाले जियोनी एफ-205 और जियोनी एस-11 फोन लांच कर भारतीय बाजार में वापसी की थी। ये फोन सेल्फी के शौकीन लोगों के पसंदीदा माने जाते हैं। उस वक्त कंपनी की ओर से कहा गया था कि वह भारत में इस साल 6.5 अरब रुपये का निवेश करेगी, क्योंकि वह भारत में शीर्ष पांच स्मार्टफोन ब्रांड में शामिल होना चाहती है।

Posted By: Vikas Jangra