चोंगकिंग [चीन], एजेंसी। चीन ने पश्चिमी मेगासिटी चोंगकिंग में एक यात्री में मंकीपाक्स का पहला मामला दर्ज किया है, जो विदेश से शहर आया था। इस बात की पुष्टि मीडिया रिपोर्ट में की गई है।

वाल स्ट्रीट जर्नल ने चोंगकिंग स्वास्थ्य आयोग का हवाला देते हुए बताया कि यात्री चीन पहुंचा था। यात्री को COVID-19 नियंत्रणों के अनुरूप क्वारंटाइन होने के दौरान कुछ दाने और अन्य लक्षण महसूस हुए। 

जिसके बाद चाइनीज सेंटर फार डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन द्वारा परीक्षण के परिणामों की समीक्षा करने के बाद मंकीपाक्स के मामले की पुष्टि हुई। रिपोर्ट के अनुसार, यात्री का अस्पताल में इलाज चल रहा है और उसकी हालत अभी स्थिर है।

एहतियात के तौर पर, जो कोई भी यात्री के निकट संपर्क में आया था, उसे चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया था। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का हवाला देते हुए स्वास्थ्य आयोग के बयान में कहा गया है कि चोंगकिंग में प्रवेश करने के तुरंत बाद मामले को नियंत्रित किया गया था और कोई सामाजिक गतिविधि नहीं हुई थी।

शहर के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि चोंगकिंग का मामला पिछले हफ्ते हांगकांग में मंकीपाक्स का पहला मामला दर्ज करने के बाद आया है, जब एक 30 वर्षीय व्यक्ति जो अमेरिका और कनाडा की यात्रा के बाद फिलीपींस से आया था।

पहले मंकीपाक्स मामले की खबर सामने आते ही चोंगकिंग मामले से जुड़े एक हैशटैग को चीनी सोशल-मीडिया प्लेटफार्म वीबो पर एक घंटे से भी कम समय में 120 मिलियन से ज्यादा व्यूज मिले थे।

चीन के सख्त जीरो-COVID नीति हैशटैग की तरह, यह मंकीपाक्स का मामला कम समय में साइट पर टाप-ट्रेंडिंग विषय बन गया। चीन ने लाकडाउन और सामूहिक परीक्षण जैसे उपायों को लागू करके कोविड -19 के प्रकोप को रोकने की कोशिश की थी।

मीडिया पोर्टल ने विश्लेषकों के हवाले से कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के सत्ता में अपने तीसरे कार्यकाल के लिए, यह संभावना नहीं है कि सरकार कोविड-नियंत्रण प्रतिबंधों में ढील देगी। चीन ने पिछले एक सप्ताह में एक दिन में लगभग 1,000 नए स्थानीय कोविड -19 मामले दर्ज किए हैं, जिनमें एसिम्प्टोमैटिक मामले भी शामिल हैं।

Edited By: Versha Singh