मैड्रिड/वाशिंगटन, एजेंसियां। कोरोना महामारी की चपेट में लगभग पूरी दुनिया आ गई है। गत दिसंबर में चीन में पहला मामला सामने आने के बाद अब तक विश्व के 192 देशों में पहुंच चुके कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों का आंकड़ा 15 लाख के पार पहुंच चुका है। मरने वालों की संख्या भी 90 हजार के करीब हो गई है। इस महामारी से अमेरिका के बाद यूरोपीय देश इटली, स्पेन, फ्रांस और जर्मनी सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। वैश्विक आंकड़े में आधे से ज्यादा मामले यूरोप के हैं। इस महाद्वीप में सात लाख 73 हजार संक्रमित हैं और 60 हजार से ज्यादा पीडि़त दम तोड़ चुके हैं। कोरोना से निपटने के लिए फ्रांस में लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी गई है जबकि स्पेन में मरने वालों तादात में मामूली गिरावट दर्ज की गई है।

खामनेई बोले, जमात के साथ न पढ़ें नमाज 

ईरान के सर्वोच्च नेता आयतुल्ला अली खामनेई ने अपील की है कि वे रमजान के महीने में घर में ही नमाज पढ़ें। ईरान में कोरोना वायरस से 4,100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 66,000 संक्रमित हैं। ईरान महामारी से बुरी तरह प्रभावित है। खामनेई ने देशवासियों से रमजान के दौरान जमात यानी सामूह में नमाज पढ़ने से बचने की सलाह दी है। रमजान इस महीने के आखिर से शुरू होगा। टेलीविजन पर प्रसारित अपने संदेश में खामनेई ने कहा कि लोग जमात के साथ नमाज और तकरीरों से परहेज करें। उन्‍होंने लोगों से अकेले में इबादत करने को कहा है। 

फ्रांस में बढ़ाया जाएगा लॉकडाउन 

राष्ट्रीय प्राधिकरणों के डाटा और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की जानकारी के अनुसार, दुनियाभर में अब तक करीब 15 लाख 35 हजार लोग संक्रमित पाए गए हैं जबकि 89 हजार 800 की मौत हो चुकी है। इस बीच फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के एक करीबी अधिकारी ने बताया कि लॉकडाउन की अवधि बढ़ाई जाएगी। अभी 15 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन है। राष्ट्रपति अगले हफ्ते राष्ट्र को संबोधित भी करेंगे। फ्रांस में कोरोना पीडि़तों की संख्या एक लाख 12 से ज्यादा हो गई है और दस हजार से अधिक जान गंवा चुके हैं। 

स्‍पेन में फ‍िर दर्ज की गई गिरावट 

स्पेन के स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि संक्रमण के नए मामलों और मौतों में दो दिन बाद फिर गिरावट दर्ज की गई है। देश में बीते 24 घंटे के दौरान 5,756 नए मामले पाए गए और 728 पीडि़तों की मौत हुई। एक दिन पहले 6,180 नए मामले मिले थे और 757 पीडि़तों ने दम तोड़ा था। अब तक 52 हजार से रोगी ज्यादा ठीक हो चुके हैं। इटली में भी नए मामलों और मौत की दर में मामूली गिरावट देखी जा है।

इटली में दो माह की बच्ची कोरोना से उबरी

इटली में महज दो माह की एक बच्ची कोरोना वायरस से ठीक हो गई है। इस यूरोपीय देश में वह सबसे कम उम्र की कोरोना रोगी मानी जा रही है। बच्ची और उसकी मां को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। दोनों को गत 18 मार्च को इटली के दक्षिणी शहर बारी के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

स्विटजरलैंड में अस्पतालों में जाने से कतरा रहे दूसरे रोगी

स्विटजरलैंड में अब तक 23 हजार से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित पाए जा चुके हैं। ऐसे मरीजों का अस्पतालों में तांता लगा है जबकि दूसरी गंभीर बीमारियों से जूझ रहे कई मरीज अस्पताल जाने से कतरा रहे हैं। डॉक्टरों ने यह आशंका जताई है कि दूसरी बीमारियों से कई लोग घरों पर मर रहे हैं। कई लोग कोरोना रोगियों के संपर्क में आने के डर से अस्पताल नहीं आ रहे हैं।

जापानियों को घरों में रखने में इमरजेंसी फेल

जापान में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या पांच हजार के पार पहुंच गई है। अब तक 105 पीडि़तों की मौत हो चुकी है। सरकार ने महामारी की रोकथाम के लिए इसी सप्ताह राजधानी टोक्यो और छह अन्य इलाकों में इमरजेंसी का एलान कर दिया था। यह कदम उठाए जाने के बाद टोक्यो में रात के समय ज्यादा गुलजार रहने वाले जिले शिबुया, अकासाका और गिंजा शांत रहे जबकि दूसरी जगहों पर आम दिनों की तरह लोगों की व्यस्तता देखने को मिली। इससे जाहिर होता है कि लोगों को घरों में रखने में उठाए गए कदम प्रभावी नहीं हो रहे।

ट्रंप बोले, आने वाले हैं भयावह दिन 

अमेरिका में महामारी का केंद्र बने न्यूयॉर्क शहर में कोरोना वायरस फरवरी में यूरोप के रास्ते दाखिल हुआ था। यह जानकारी एक अध्ययन में सामने आई है। इससे यह भी जाहिर होता है कि देर से उठाए गए कदमों के चलते ही न्यूयॉर्क समेत पूरे अमेरिका में हालात बेकाबू हो गए। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि कुछ भयावह दिन आने वाले हैं, लेकिन जल्द ही अच्छे दिन भी आएंगे। देश में बीते 24 घंटों में 1900 से ज्यादा पीडि़तों के दम तोड़ने से जान गंवाने वालों की संख्या 15 हजार के करीब पहुंच गई है जबकि संक्रमित लोगों का आंकड़ा चार लाख 35 हजार से ज्यादा हो गया है।

रेफ्रिजरेटेड ट्रकों से ले जा रहे शव

कोरोना वायरस से न्यूयॉर्क शहर में सबसे खराब हालात हैं। इस शहर में रहने वाले एक जोड़े ने दावा किया है कि उन्होंने वीकॉफ हाइट्स मेडिकल सेंटर अस्पताल से शवों को ले जाने के लिए रेफ्रिजरेटेड ट्रकों को कतार में खड़े देखा। 28 साल की एलिक्स मोंटेलेओन और मार्क कोज्लोव ने रायटर को बताया कि उन्होंने अपने अपार्टमेंट की खिड़की से यह सब देखा। एलिक्स ने कहा, 'हमने अपने घर के बाहर अव्यवस्था देखी। हमने यह गिनना बंद कर दिया कि कितने शव बाहर निकाले जा रहे हैं।' अमेरिका में संक्रामक बीमारियों के शीर्ष विशेषज्ञ एंटोनी फासी ने कहा है कि अमेरिकी नागरिकों को अब कभी हाथ नहीं मिलाना चाहिए।  

देश - मौत - संक्रमित

इटली - 17,669 - 1,39,422

स्पेन - 15,238 - 1,52,446

अमेरिका -14,818 - 4,35,289

फ्रांस - 10,869 - 1,12,950

ब्रिटेन - 7,097 - 60,733

ईरान - 4,110 - 66,220

चीन - 3,335 - 81,865

जर्मनी - 2,349 - 1,13,296

तुर्की - 812 - 38,226

बोरिस जॉनसन की सेहत में तेजी से सुधार

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की लगातार तीसरी रात लंदन के एक अस्पताल के गहन चिकित्सा कक्ष (आइसीयू) में बीती और उनकी सेहत में तेजी से सुधार हो रहा है। डाउनिंग स्ट्रीट ने बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित 55 वर्षीय प्रधानमंत्री जॉनसन को सोमवार की रात हालत बिगड़ने पर सेंट थॉमस अस्पताल के आइसीयू में भर्ती कराया गया था। उन्हें ऑक्सीजन दी जा रही है, लेकिन उन्हें निमोनिया नहीं हुआ है। उन्हें वेंटिलेटर पर रखने की जरूरत नहीं महसूस की गई। फ‍िलहाल वह अभी आइसीयू में रहेंगे। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस