रोम, एजेंसियां। इटली में मृतकों की संख्या दो दिन बाद मंगलवार को अचानक बढ़ गई। घातक कोरोना वायरस के चलते यहां एक दिन में और 743 की जान चली गई और मरने वालों का आंकड़ा 6,820 पर पहुंच गया। यह आशंका जताई जा रही है कि संक्रमितों का आंकड़ा 10 गुना ज्यादा हो सकता है। ब्रिटेन में भी एक दिन में 87 लोगों की मौत हो गई, जो एक दिन में अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। वहां मरने वालों का आंकड़ा 422 हो गया है। दुनियाभर में मरने वालों की संख्या 17,225 हो गई है, जबकि, 3,95,500 लोग संक्रमित हुए हैं।

इटली में तेजी से बढ़ा संक्रमण 

इटली में संक्रमितों का आंकड़ा भी पांच हजार के करीब बढ़ गया है। संक्रमितों की संख्या सोमवार के 63,927 के मुकाबले मंगलवार को 69,176 हो गई। वैसे संक्रमितों की संख्या 10 गुना ज्यादा होने की आशंका जताई जा रही है। इसके पीछे वजह यह बताई जा रही है कि टेस्ट सिर्फ उन्हीं लोगों का किया जा रहा है जो किसी न किसी वजह से अस्पताल पहुंच रहे हैं। हालांकि लाखों ऐसे व्यक्ति हो सकते हैं जो संक्रमित हों, लेकिन उनका टेस्ट नहीं किया गया है।

हर 10 में से एक संक्रमित

इटली के सिविल प्रोटेक्शन एजेंसी के प्रमुख एंजिलो बोरेली ने ला रिपब्लिका समाचार पत्र को बताया कि प्रत्येक 10 लोगों में एक व्यक्ति के संक्रमित होने का अनुपात विश्वसनीय है। इसी अनुपात को आधार माना जाए तो देश में 6,40,000 लोग संक्रमित हो सकते हैं। बता दें कि इटली की आबादी छह करोड़ से कुछ ज्यादा है। उन्होंने कहा कि इटली मास्क और वेंटीलेटर की कमी से जूझ रहा है। हम दूसरे देशों से स्वास्थ्य संबंधी उपकरणों को मंगाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन रूस, रोमानिया, भारत और तुर्की जैसे देशों ने इनकी बिक्री को रोक रखा है।

इटली में मास्‍क की किल्‍लत

बोरेली ने कहा कि हम इन देशों में स्थित अपने दूतावासों के संपर्क में हैं, लेकिन हमें लगता है कि विदेशों से मास्क आदि नहीं पहुंच सकेंगे। महामारी ने इटली की अर्थव्यवस्था को भी गहरा नुकसान पहुंचाया है। पूरे देश में व्यापारिक गतिविधियां ठप हैं। सरकार ने यूरोपीय यूनियन के देशों से बेलआउट पैकेज की मांग की है, लेकिन अमीर देश इस पर बहुत अधिक रुचि नहीं दिखा रहे हैं। वर्तमान में तथाकथित यूरोपियन स्टेबिलिटी मैकेनिज्म (ईएसएम) मदद देने को तैयार है, लेकिन इसके लिए उसने कड़ी शर्ते लगाई हैं।

ब्रिटेन में लॉकडाउन के बावजूद ट्रेनों में भीड़

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने संक्रमण को रोकने के लिए तीन सप्ताह के लॉकडाउन का एलान किया था, लेकिन देश में चलने वाली अंडरग्राउंड ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ इसकी गंभीरता पर सवाल उठा रही है। परिवहन मंत्री गैंट शैप ने कहा कि सरकार सिर्फ जरूरी कर्मचारियों के लिए ट्रेनें चलाने पर गंभीरता से विचार कर रही है। वहीं लंदन के मेयर सादिक खान ने कहा है कि यह हमारे सामने आने वाली चुनौतियां का समय है।

स्पेन में पिछले चौबीस घंटे में 514 लोगों की मौत

स्पेन में पिछले चौबीस घंटों में 514 लोगों की मौत हुई है। वहां पर मरने वालों की संख्या का आंकड़ा 2,696 पर पहुंच गया है। एक ही दिन में 6,600 नए संक्रमण के मामले सामने आए हैं। संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 39,673 हो गई है।

फिलीपींस में आपातकाल को मंजूरी

फिलीपींस की संसद ने भी देश में आपातकाल लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इससे राष्ट्रपति को आम लोगों की मदद के लिए कार्यक्रम चलाने का अधिकार मिल जाएगा। साथ ही क्वारंटाइन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करने का रास्ता भी साफ हो जाएगा। फिलीपींस में कोरोना से अब तक 35 लोगों की मौत हुई है और 552 संक्रमित हुए हैं।

बाकी देशों का हाल 

- पाकिस्तान में संक्रमितों की संख्या 956 हो गई है। गरीबों के लिए 150 अरब रुपये का पैकेज घोषित किया

- सऊदी अरब में कोरोना से दो लोगों की मौत हो गई है। वहीं, यूएई लॉकडाउन की तैयारी में है

- नेपाल में मंगलवार सुबह से सात दिनों के लिए पूरे देश में लॉकडाउन हो गया।

- बांग्लादेश ने गुरुवार से चार अप्रैल तक सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया है।

देश मौत संक्रमित

इटली 6,820-69,176

चीन 3,277-81,171

स्पेन 2,696 39,673

ईरान 1,934-24,811

फ्रांस 860 19,856

ईरान ने सरकारी कर्मचारियों को घर पर रहने को कहा

संक्रमण रोकने के लिए ईरान ने आधे सरकारी कर्मचारियों को घर पर ही रहने का निर्देश दिया है। अस्थायी तौर पर जेल से छोड़े गए कैदियों की रिहाई अवधि भी 18 अप्रैल तक बढ़ा दी है। ईरान में पिछले चौबीस घंटे में 122 लोगों की मौत हुई है। वहां पर मृतकों की संख्या 1,934 हो गई है। एक दिन में संक्रमण के 1762 नए मामले सामने आए हैं। इस तरह देश में संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 24,811 हो गई है।

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस