बीजिंग, रायटर। चीन में कोरोना के नये मामलों का सामने आना लगातार जारी है। इसमें लक्षण वाले और बिना लक्षण वाले दोनों तरह के मामले हैं। ताजा जानकारी के अनुसार रविवार को कोरोना के 39 नये मामले सामने आये जबकि शनिवार को 30 मामलों का पता चला था। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने सोमवार को बताया कि देश में रविवार को बिना लक्षण वाले 78 कोरोना मामलों का पता चला है। जबकि एक दिन पहले ही इसी तरह के 47 मामले पकड़ में आये थे। कोरोना की रोकथाम के लिए उठाये गये सख्त कदमों के बाद भी बाहर से आने वाले और बिना लक्षण वाले मामलों ने चीन की चिंता बढ़ा दी है।

महामारी की वापसी का खतरा

बिना लक्षण वाले मामलों में मरीजों को भले ही परेशानी ज्यादा न होती हो लेकिन वे दूसरे को संक्रमित करने में सक्षम होते हैं। एनएचसी के प्रवक्ता मी फेंग ने एक प्रेस कांफ्रेसमें बताया कि चीन को सतर्क रहने के साथ इस महामारी की वापसी को हर हाल में रोकना होगा। चीन में हाल के दिनों में बिना लक्षण वाले मिले 705 मामलों की निगरानी हो रही है। इनमें से आधे मामले कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित हुबेई प्रांत के हैं। बिना लक्षण वाले मामले पिछले एक सप्ताह से सामने आने से सरकार की चिंता बढ़ गई है। पिछले दो माह से लाकडाउन में रह रहे हुबेई के लोगों को आगामी 8 अप्रैल से शहर से बाहर जाने की छूट मिलने जा रही है। हालांकि इस प्रांत ने पिछले माह ही यात्रा संबंधी कुछ नियमों में ढील दी थी।

बंद रखी हैं अतंरराष्ट्रीय सीमाएं

चीन की समाचार एजेंसी शिनहुआ के अनुसार विभिन्न क्षेत्रों में मिले बिना लक्षण वाले कोरोना संक्रमितों के कारण 45 आवासीय परिसरों को 'महामारी मुक्त' श्रेणी से हटा लिया गया है। महामारी मुक्त परिसरों में रह रहे लोगों को दिन में दो घंटे के लिए घर से बाहर निकलने की छूट मिली हुई है। चीन में अब तक इस बीमारी से 81,708 लोग संक्रमित हुए जबकि 3331 लोगों की मौत हुई। कोरोना संक्रमण के कारण चीन ने अपनी अतंरराष्ट्रीय सीमाएं बंद कर रखी हैं। पहली अप्रैल से विदेश से आने वाले हर आदमी की जांच हो रही है।

चार्टर्ड उड़ानों से लौट रहे लोग

कोरोना के लक्षण वाले जो नये मामले सामने आये हैं उनमें 38 रविवार को विदेश से आये लोगों के हैं। जबकि शनिवार को इसी तरह के 25 मामले पकड़े गये थे। इनमें से 20 मामले रूस से लगने वाली सीमा से हीलोंगजियांग प्रांत में प्रवेश करने वालों में मिले। ये सभी चीनी नागरिक हैं और मास्को से व्लाडीवोस्तक होते हुए स्वदेश लौटे हैं। चीन को विदेश में पढ़ रहे अपने 16 लाख छात्रों के जरिये देश में संक्रमण पहुंचने की आशंका सता रही है। हालांकि चीन ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा रखी है लेकिन कई संपन्न छात्र चार्टर्ड उड़ानों से घर लौट रहे हैं।

हर दिन पांच मामले

इस बीची गुआंडडोंग प्रांत में कोरोना का स्थानीय मामला सामने आया है। यहां पर बीमारी के प्रकोप के दौरान हर दिन पांच मामले तक आ रहे थे। नया मामला सामने आने के बाद प्रांत के गुआंग्झू, शेंझेन व चेंग्सू में सतर्कता बढ़ा दी गई है। उधर एक अन्य घटनाक्रम में अमेरिका में चीन के राजदूत कुई तिनाकी ने न्यूयार्क टाइम्स को बताया कि वायरस को लेकर दोनों देशों में काफी अप्रिय बातें हुई हैं। लेकिन यह समय एक-दूसरे पर उंगली उठाने का नहीं है। इस समय हम लोगों को एकता, भाईचारा और आपसी सहयोग दिखाना होगा। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस