बीजिंग (आइएएनएस)। चीन जैसे के साथ तैसी की नीति पर काम कर रहा है। आज (शुक्रवार) चीन ने अमेरिका को धमकी दी और कहा कि वह अमेरिका के कृषि और इस्पात उत्पादों पर उच्च टैरिफों को लेकर पर विचार कर रहा है क्योंकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने चीनी आयात पर 60 अरब डॉलर तक के व्यापार शुल्क लगाए हैं।

गुरुवार को ट्रम्प के फैसले के बाद चीन ने फलों, नट्स, शराब और निर्बाध स्टील ट्यूबों पर 15 फीसद टैरिफ की घोषणा की और सूअर के मांस व एल्यूमीनियम उत्पादों के री-साइकिल पर 25 फीसद का टैरिफ लगाया। सिन्हुआ न्यूज़ एजेंसी ने चीनी वाणिज्य मंत्रालय के हवाले से कहा इन उपायों को दो चरणों में लागू किया जाएगा। पहले चरण में 15 फीसद टैरिफ लगाया जाएगा, यदि दोनों देश निर्धारित समय के भीतर व्यापार के मुद्दों पर समझौते तक नहीं पहुंच पाते हैं। दूसरे चरण में अमेरिकी नीतियों के प्रभाव के मूल्यांकन के बाद 25 फीसद आयात कर लगाया जाएगा।

चीन और अमेरिका के बीच व्यापार युद्ध की स्थिति देखने को मिल रही हैं, जो दुनिया के दो सबसे बड़े व्यापारिक भागीदार हैं। चीन की सख्त चेतावनियों के बावजूद ट्रम्प ने आरोपों को दरकिनार करने की कोशिश की। 8 मार्च को अमेरिका ने कनाडा और मेक्सिको के लिए शुरुआती छूट के साथ चीनी स्टील (25 फीसद) और एल्यूमीनियम (10 फीसद) उत्पादों पर टैरिफ लगाया था। अमेरिका का यह कदम चीन की अमेरिकी कंपनियों की बौद्धिक संपदा चोरी करने के जवाब में है।

Posted By: Nancy Bajpai

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस