बीजिंग [रायटर]। चीन के रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि वह अफगानिस्तान को रक्षा और आतंकरोधी प्रयासों में मदद कर रहा है। एक दिन पहले ही चीन ने अफगानिस्तान में सैन्य अड्डा बनाने और चीनी सैनिक भेजने की खबरों को खारिज किया था।

हांगकांग के साउथ चाइना मॉर्निग पोस्ट अखबार ने सेना से जुड़े सूत्रों के हवाले से बुधवार को खबर दी थी कि चीन युद्ध प्रभावित इस देश के वाखान गलियारे में एक सैन्य बेस के निर्माण के लिए धन मुहैया करा रहा है। इस बेस पर सैकड़ों चीनी सैनिकों को भेजा जा सकता है। यह गलियारा दोनों देशों को जोड़ता है। बाद में इसी अखबार ने बीजिंग स्थित अफगान दूतावास के हवाले से कहा था, 'चीन आतंकवाद से मुकाबले के लिए एक माउंटेन ब्रिगेड स्थापित करने में मदद कर रहा है। लेकिन अफगान धरती पर चीनी सैनिक किसी भी रूप में मौजूद नहीं रहेंगे।'

माउंटेन बिग्रेड के बारे में पूछे जाने पर चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता वू कियान ने गुरुवार को कहा कि चीन और अफगानिस्तान में सामान्य सैन्य और सुरक्षा संबंध हैं। चीन और अंतरराष्ट्रीय समुदाय रक्षा और आतंकरोधी प्रयासों को मजबूत करने में अफगानिस्तान की मदद कर रहा है।

Posted By: Vikas Jangra